उत्तराखंड के मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने इस्तीफे देने की पेशकश आर्टिकल 164 ए और आर्टिकल 151 क्या कहता है

0
232

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत (Tirath Singh Rawat Live Updates) ने शुक्रवार को पद से इस्तीफा देने की पेशकश की है. सूत्रों के अनुसार, उन्होंने इस संदर्भ में बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा को एक पत्र लिखा है, जिसमें उन्होंने यह पेशकश की. इसके पीछे की वजह संवैधानिक संकट पैदा होना बताया गया है.

राज्य सियासी हलचल के बीच रावत ने जेपी नड्डा से मुलाकात भी की थी.इस्तीफे की पेशकश करने के बाद मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत प्रेस कॉन्फ्रेंस कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि पिछले एक साल से कोरोना की वजह से अर्थव्यवस्था पर असर पड़ा है.

उत्तराखंड भी इससे अछूता नहीं रहा.तीरथ सिंह रावत ने पत्र में कहा है कि आर्टिकल 164-ए के हिसाब से उन्हें मुख्यमंत्री बनने के बाद छ महीने में विधानसभा का सदस्य बनना था, लेकिन आर्टिकल 151 कहता है कि अगर विधानसभा चुनाव में एक वर्ष से कम का समय बचता है तो वहा पर उप-चुनाव नहीं कराए जा सकते हैं. उतराखंड में संवैधानिक संकट न खड़ा हो, इसलिए मैं मुख्यमंत्री के पद से इस्तीफा देना चाहता हूं.विधानमंडल की बैठक कल दोपहर 3 बजे होगी. सभी बीजेपी विधायकों को सुबह 11 बजे तक देहरादून पहुंचने के निर्देश दिए गए

हैं.उत्तराखंड विधायक दल की बैठक के लिए कल पर्यवेक्षकों के तौर पर केंद्र मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर देहरादून जाएंगे. वहीं पर बीजेपी विधायक दल की बैठक होगी. जॉलीग्रांट एयरपोर्ट पर लैंड करने के बाद तीरथ सिंह रावत सीधा राजभवन पहुंच गए हैं.

उत्तराखंड में अगले साल विधानसभा चुनाव होने वाले हैं. मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत को दिल्ली तलब किया गया था, जिसके बाद वे राष्ट्रीय राजधानी आए. उनके अलावा, दो बीजेपी के वरिष्ठ नेता सतपाल महाराज और धन सिंह रावत को भी दिल्ली बुलाया गया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here