ऋषिकेश, लूट और धोखाधडी करने वाले कर्नाटका ईरानी गैंग के तीन सरगना पुलिस ने किया गिरफ्तार कब्जे से दो होंडा मोटरसाइकिल धोखाधड़ी हेतु प्रयुक्त करने वाले सोने चांदी के नकली जेवर बरामद पुलिस की बड़ी कामयाबी

0
257

पुलिस के द्वारा हिंदी मैगजीन की रिपोर्टर  प्रिया अरोरा  ऋषिकेश

कोतवाली ऋषिकेश दिनांक 15 जनवरी 2021 लूट और धोखाधडी करने वाले कर्नाटका ईरानी गैंग के तीन सरगना गिरफ्तार, कब्जे से दो होंडा यूनिकॉर्न मोटर साइकिल पुणे महाराष्ट्र व कर्नाटक से चोरी, घटना से संबंधित शतप्रतिशत बरामदगी व घटना में धोखाधड़ी हेतु प्रयुक्त करने वाले सोने चांदी के नकली जेवर बरामद शिकायतकर्ता अरविंद जैन पुत्र स्वर्गीय प्रेमचंद्र जैन निवासी 75 जीवनीमाई मार्ग निकट मॉडर्न स्कूल ऋषिकेश


के द्वारा एक प्रार्थना पत्र दिया गया कि
6 जनवरी 2021 की शाम मेरी पत्नी बाजार सामान लेने गई थी तो रेलवे रोड भगवान भवन के सामने दो अज्ञात व्यक्तियों ने मेरी पत्नी को बातों में उलझा कर कुछ आभूषण ठग लिए और वहां से फरार हो गए।
शिकायतकर्ता की उक्त शिकायत पर कोतवाली ऋषिकेश में मुकदमा अपराध संख्या 08/2021 धारा 420 आईपीसी पंजीकृत कर विवेचना प्रारंभ की गई। उक्त मामले की गंभीरता को देखते हुए वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक महोदय जनपद देहरादून के द्वारा तत्काल मामले के अनावरण व शत-प्रतिशत बरामदगी करते हुए अभियुक्तों को गिरफ्तार करने हेतु आदेशित किया गया। उक्त आदेश के अनुपालन में पुलिस अधीक्षक देहात व क्षेत्राधिकारी ऋषिकेश महोदय के निर्देशन में प्रभारी निरीक्षक कोतवाली ऋषिकेश महोदय द्वारा टीम गठित कर आवश्यक दिशा निर्देश दिए गए।


दो पुलिस टीम वर्दी में एक टीम सदा वस्त्रों में नियुक्त की गई।
घटना स्थल व उसके आसपास लगे सीसीटीवी कैमरे का बारीकी से विश्लेषण करने हेतु आदेशित किया गया। घटनास्थल एवं उसके आसपास संदिग्धो के विषय में जानकारी कर उनका सत्यापन करते हुए पूछताछ करना। सीसीटीवी से प्राप्त फोटो/ वीडियो को मुखबिर तंत्र को देकर सक्रिय करना। सरहदी जनपदों के साथ समन्वय स्थापित कर ऐसे अभियुक्तों के विषय में जानकारी हासिल कर सभी का सत्यापन करते हुए पूछताछ करना।
उच्च अधिकारी गणों से प्राप्त दिशा निर्देशों का अनुपालन करते हुए गठित टीम द्वारा घटनास्थल एवं उसके आसपास लगे निजी संस्थानों, दुकानों,घरों आदि के 150 से अधिक सीसीटीवी कैमरे का विश्लेषण कर घटना से संबंधित संदिग्ध व उनके वाहन की फोटो प्राप्त कर सरहदी जनपदों मुजफ्फरनगर, सहारनपुर, मेरठ, दिल्ली, व राजस्थान आदि से संपर्क कर सीसीटीवी से प्राप्त फोटो का प्रचार प्रसार किया गया।
50 से अधिक पुराने अभियुक्तों का सत्यापन करते हुए पूछताछ की गई व प्राप्त फोटो एवं वीडियो मुखबिर तंत्र को देकर सक्रिय किया गया।
कल दिनांक 14 जनवरी 2020 की सायं समय 17:10 बजे मुखबिर की सूचना पर गठित पुलिस टीम द्वारा नेपाली तिराहे के पास चेकिंग के दौरान दो अलग-अलग यूनिकॉर्न मोटरसाइकिल पर तीन अभियुक्तों को गिरफ्तार किया गया है। जिनके पास से उपरोक्त घटना से संबंधित माल बरामद हुआ है।,नाम पता अभियुक्त गण, मिसकिन पुत्र मंसूर अली निवासी हुसेनी कालोनी, छिदरी रोड़, थाना गांधीगंज, जिला बीदर कर्नाटका,
मौसीन खान पुत्र फिरोज खान निवासी मूल पता चिनचाला लाल बाड़ा थाना लालबाग जिला बुरहान मध्यप्रदेश*
हाल पता- मिसकिन के साथ उपरोक्त पता शेख अबू तोराब पुत्र अख्तर अली निवासी हुसेनी कालोनी, छिदरी रोड़, थाना गांधीगंज, जिला बीदर कर्नाटका
बरामदगी विवरण चूड़ी सोने की, 300 रूपये व नकली ज्वैलरी एक बैग में, होण्डा यूनिकार्न मो0सा0 फर्जी नम्बर लगी
अभियुक्त मौसीन खान से
सोने की अंगूठी व 210 रूपये
अभियुक्त शेख अबू तोराब से
चांदी का बिछवा व 250 रूपये व फर्जी नं0 लगी होण्डा यूनिकार्न मो0सा0 तरीका वारदात, बैंक में सीधे- साधे ग्राहकों को नोट गिनने के बहाने या असली-नकली नोट की पहचान कराने के नाम पर ठगी करते है।
पुलिस अधिकारी बनकर आम जनता को भय दिखाकर पैसे ऐठते है आरोपी। ज्वैलर्स की दुकान पर ग्राहक बनकर दुकानदार को बातो में उलझाकर स्वर्ण आभूषण चोरी करना।
पूछताछ विवरण अभियुक्त मिसकिन ने बताया कि हम लोग मूल रूप से कर्नाटक के रहने वाले हैं। हमारे पास जो मो0सा0 हैं, उन्हे हम लोग मेरठ व दिल्ली में स्टेशनों की पार्किंग में खड़ी कर वापस कर्नाटक अपने घर चले जाते हैं। हम अन्य प्रदेशों में जाकर घूम घूमकर नग,मोती, कपड़े व चश्मे इत्यादि बेचने का काम करते हैं। जिसकी आड़ में हम लोग भीड़ भाड़ वाले बाजार क्षेत्र में अकेली महिला की तलाश करते हैं। इसके पश्चात हममे से एक आदमी अपने को पुलिस वाला बताकर महिला के पास जाकर बोलता हैं कि आपको साहब बुला रहे हैं। जिस पर वह आदमी महिला को हम में से एक अन्य आदमी के पास लाता है, तथा हमी में से तीसरा आदमी वहां से गुजरता है। जिसे बैठा व्यक्ति बुलाता है और कहता है कि आप इस तरह आभूषण पहनकर न घूमें आपके साथ घटना हो सकती है। आप इन्हे उतारकर लिफाफ मे रखकर ले जाओ और घर जाकर पहन लेना। इस पर वह व्यक्ति अपने आभूषण उताकर बैठे व्यक्ति को दे देता है। जिन्हे बैठा व्यक्ति अपने पास रखे एक लिफाफे में रखकर उसे लिफाफा दे देता है और वह व्यक्ति लिफाफा को जेब में रखकर आगे बढ़ जाता है। इस दृश्य को देखकर बुुजुर्ग महिला विश्वास में आ जाती है जिस पर बैठा व्यक्ति बुजुर्ग महिला से भी यही कहता है और बुजुर्ग महिला अपने पहने गहने उताकर बैठे व्यक्ति को दे देती है। जिस पर बैठा व्यक्ति उसके गहनों को अपने पास रखे लिफाफे में रखकर अपने बैग में पूर्व से रखे उसी प्रकार के नकली ज्वेलरी को हूबहू लिफाफे में रखकर महिला को धोखे से पकड़ा देता है व महिला विश्वास कर कि यही वह लिफाफा है अपने घर चली जाती है तथा हम लोग वहां से खिसक जाते है। हम लोग कई प्रदेशों में घूम घूमकर घटना करते हैं। आज हम लोग देहरादून घटना करने जा रहे थे कि आप लोगो ने पकड़ लिया। अपराधिक इतिहास,
अभियुक्त मिस्किन पर कर्नाटका में चोरी एवं धोखाधड़ी के 6 से अधिक मुकदमा पंजीकृत हैं,अभियुक्त अब्दुल तराब पर कर्नाटका मैं धोखाधड़ी एवं महाराष्ट्र में आर्म्स एक्ट में मुकदमा पंजीकृत है। अन्य जगहों से भी अपराधिक इतिहास की जानकारी की जा रही है।
अभियुक्तों को समय से माननीय न्यायालय के समक्ष पेश किया जाएगा।
पुलिस टीम निरीक्षक रितेश साह,
व0उ0नि0 ओमकान्त भूषण,उ0नि0 आशीष गुसांई, का0 1344 प्रवीण सिन्धू , का0 1185 नवनीत सिंह नेगी,का0 823 मनोज कुमार, का0 886 सन्दीप छाबड़ी,का0 1161 अनित कुमार

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here