घूमने फिरने व अय्याशी करने के शौक ने चोर बना दिया चोरी के तीन दो पहिया वाहन के साथ चार बाल अपचारी गिरफ्तार

0
1081

पुलिस के द्वारा हिंदी मैग्जीन के मीडिया प्रभारी नरेंद्र कुमार राठौर देहरादून उत्तराखंड

कोतवाली नगर, देहरादून*
——————————————-
*(चोरी के तीन दोपहिया वाहनो के साथ 4 बाल अपचारी गिरफ्तार)*

विगत माह में शहर देहरादून में हो रही two व्हीलर्स वाहनों की चोरी के संबंध में परीक्षण करने पर पाया कि कोई संगठित गैंग लगातार शहर में दोपहिया वाहनों की चोरी को अंजाम दे रहा है, जिसको श्रीमान वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक महोदया द्वारा गंभीरता से लेते हुए उक्त संगठित वाहन चोर गैंग को पकड़ने के लिये श्रीमान पुलिस अधीक्षक नगर व क्षेत्राधिकारी नगर महोदय के निकट पर्यवेक्षण में प्रभारी निरीक्षक कोतवाली नगर महोदय के कुशल निर्देशन मे व0उप0निरी0 के नेतृत्व में एक टीम का गठन किया गया, टीम द्वारा उक्त संगठित गैंग के संबंध में पुलिस सूत्रों को घटनाओ से अवगत कराकर तलाश में लगाया गया, तथा जिन स्थानों से लगातार वाहन चोरी होने की सूचना थी वह के सीसीटीवी चेक किये गए, तथा छेत्र में ऐसे संदिग्ध लड़के जो आवारा किस्म के इधर उधर घूमते रहते हैं, के बारे में जानकारी एकत्रित की, एवम जिला कारागार से पूर्व में बंद हुए वाहन चोरो का रिकॉर्ड भी प्राप्त किया गया,तथा टीम द्वारा लगातार पुलिस सूत्रों से संपर्क स्थापित किया गया, इसी क्रम में आज दिनाँक 9 जून 18 को सूचना मिली कि कुछ नई उम्र के लड़के जो कि चक्खु मोहल्ला के रहने वाले हैं, और अक्सर नई नई दोपहिया वाहनो पर इधर उधर घूमते रहते हैं, जो कि आज दो स्कूटी से चार लोग कही घूमने निकले है, उनके पास चोरी की गाड़ियां है, इस सूचना पर टीम द्वारा उक्त दोनों वाहनो की तलाश हेतु चैकिंग अभियान चलाया गया तो 494 खुर्बुरामोहल्ला पुल की तरफ ढाल पर दो स्कूटी पर चार लड़के दिखाई दिए जो पुलिस को देखकर भागने का प्रयास करने लगे, जिनको पुलिस टीम द्वारा त्वरित कार्यवाही करते हुए मोके पर पकड़ने में सफलता प्राप्त की, ये चारो देखने मे नाबालिक प्रतीत हो रहे थे, इनके कब्जे से प्राप्त दोनो वाहनो के कागजात चेक किये गए तो नही दिखा सके,उक्त गाड़ियों को चेक किया गया तो स्कूटी सुजुकी access no. U K 07 AA 1586 रंग काला जो कि दिनाँक 15 जून 2018 को वादिनी श्रीमती सुनीता माहेश्वरी नि0 60 अंसारी मार्ग, देहरादून के घर के बाहर से चोरी गयी थी, जिसके संबंध में चौकी खुर्बुरा पर अभियोग पंजीकृत है, दूसरी स्कूटी एक्टिवा no. UK07 AU 0697 जो कि वादी श्री इटेश अरोड़ा पुत्र श्री सुनील अरोड़ा नि0 159 न्यू क्नॉट प्लेस lic फ्लैट देहरादून की दिनाँक 21 जून 2018 को गोपनीय मंदिर लुनिया मोहल्ला से चोरी गयी थी जिसके संबंध में चौकी खुर्बुरा पर अभियोग पंजीकृत है, इनसे सख्ती से पूछताछ करने पर एक अन्य मोटर साईकल पल्सर no. UA07 D 4161 जिसके संबंध में चौकी धारा पर अभियोग पंजीकृत है, जिसको इन्होंने संयुक्त रूप से इनमे से एक के घर पर छिपाकर रखी थी, को भी इनकी निशादेही पर बरामद किया गया। बाल अपचारी होने के कारण इनको बाद आवश्यक वैधानिक कार्यवाही के बाल कल्याण बोर्ड के समक्ष पेश किया जाएगा।

*नाम पता बाल अपचारी*
———————————-
चार बाल अपचारी

*बरामदगी का विवरण*
——————————-
1.एक स्कूटी सुजुकी एक्सेस no. UK07 AA 1586 (संबंधित मु0अ0स0 294/18 धारा 379,411 ipc कोतवाली नगर देहरादून)
2.एक मोटर साईकल पल्सर no.UA07 D 4161 (संबंधित मु0अ0स0 274/18 धारा 379,411 ipc कोतवाली नगर देहरादून)
3. एक स्कूटी एक्टिवा no. UK07 AU 0697 (संबंधित मु0अ0स0 295/18 धारा 379,411 ipc कोतवाली नगर देहरादून)

*पूछताछ का विवरण*
——————————
*बाल अपचारियो ने पूछताछ पर बताया कि ये सब पढ़ाई छोड़ चुके हैं, आस पास के रहने वाले हैं, बचपन से एक दूसरे को जानते हैं, घर से खर्च नही मिलता है, जिस कारण पैसे की जरूरत होने पर इधर उधर घूमने का बहुत शौक है, इनमे से एक लड़के ने कुछ दिन मोटर मैकेनिक के यह काम सीखा उसके बाद इन्होंने मिलकर योजना बनाई की हम लोग मोटर साईकल व स्कूटी को चोरी करके उसको बेच कर पैसा कमाएंगे और खूब घूम फिर कर ऐश करेंगे, इसी योजना के अनुसार इनके द्वारा ऐसे एकांत में खड़े दोपहिया वाहनों की तलाश में घूमने लगे जिसके आस पास कोई दिखाई न दे रहा हो जिसमें सबसे पहले पल्सर मोटर साईकल को मोटर मैकेनिक पर काम सीखने वाले लड़के ने लॉक तोड़कर तथा स्टार्ट करने के लिए कनेक्शन हटाकर सभी ने मिलकर चोरी कर ली थी, उस पल्सर को कुछ दिन इधर उधर घूमने में इस्तेमाल की फिर इसको काफी चलाने के बाद, एक के घर बेचने के लिए खड़ी कर दी थी, उसके बाद फिर इसी प्रकार दो और स्कूटी चोरी की गई थी, जिनको आज कल ये लोग घूमने में इस्तेमाल कर रहे थे, उक्त तीनों वाहन जो इनके कब्जे से बरामद किए गए हैं, चोरी से संबंधित है, घूमने फिरने व अय्याशी करने के शोक ने इनको चोर बना दिया, इनके परिजनों को इनके कृत्य से अवगत कराया गया हैं, तथा उक्त नाबालिकों की कॉउंसलिंग भी कराई जा रही है, अभी सुधार की गुंजाइश है। इनके द्वारा एक अन्य व्यक्ति के बारे में भी महत्वपूर्ण जानकारी दी गयी है, जो वाहनो की चोरी में लिप्त हैं, तथा उसके द्वारा ही इनको इस प्रकार से वाहन चोरी करने की योजना बताई थी, जिसपर इनके द्वारा वैसे ही वाहन चोरी का कार्य किया गया। उक्त व्यक्ति के संबंध में प्राप्त तथ्यों का गहनता से परिक्षण/विश्लेषण कर आवश्यक वैधानिक कार्यवाही की जाएगी।*

*अपराध का तरीका*
——————————
शहर में घूमकर एकांत में खड़े वाहन दुपहिया को चिन्हित कर रात्रि के वक्त लॉक तोड़कर इलेक्ट्रिक कनेक्शन हटाकर, वाहन को कुछ दूर पैदल ले जाकर स्टार्ट कर चोरी कर घर मे छुपा देना, कुछ दिन उसी वाहन से घूमना फिरना व बाद में वाहन को बेचना।

-आपराधिक इतिहास की जानकारी की जा रही है, व संबंधित थानों को अवगत कराया जा रहा है।*

*पुलिस टीम*
—————–
1. व0उप0निरीक्षक अशोक राठौड़
2. उप0 निरीक्षक प्रधुम्न नेगी
3. कानि0 शिव सिंह, प्रदीप बिष्ट, चन्दर सिंह,लोकेंद्र, बृजमोहन, मनोज यादव।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here