तेज गति से आती हुई गाड़ी लापरवाही से चलाते हुए चालक ने स्कूटी में मारी टक्कर मौके पर हुई मौत

0
734

पुलिस के द्वारा हिंदी मैगजीन के मीडिया प्रभारी नरेंद्र कुमार राठौर देहरादून उत्तराखंड

कोतवाली ऋषिकेश
दिनांक 11 नवंबर 2018*
========================
*तेजी व लापरवाही से गाड़ी चलाकर, स्कूटी में टक्कर मारकर स्कूटी चालक व साथी की मृत्यु कारित करने वाला चालक मय आई-10 गाड़ी के साथ गिरफ्तार*
=========================
कोतवाली ऋषिकेश में दिनांक 12/10/2018 को *वादी श्री धनीराम पुत्र स्वर्गीय नरी राम निवासी गजारी, पोस्ट कोटाबाग कालाढूंगी, नैनीताल* के द्वारा एक प्रार्थना पत्र दिया गया कि *किसी अज्ञात चालक द्वारा तेज व लापरवाही से गाड़ी चलाकर मेरे पुत्र की स्कूटी (A/F) में टक्कर मार दी गई,जिसमें मेरे पुत्र व उसके साथी की मौके पर मृत्यु हो गई।* जिस पर कोतवाली ऋषिकेश में तत्काल मुकदमा अपराध संख्या 474/18 धारा 279/304 A आई.पी.सी पंजीकृत किया गया।
उक्त मामले की गंभीरता को देखते हुए प्रभारी निरीक्षक कोतवाली ऋषिकेश के द्वारा तत्काल उक्त मुकदमें के तत्काल निस्तारण हेतु *विवेचक को आदेशित किया गया एवं तीन पुलिस टीम को सादे वस्त्रों में उपरोक्त घटना के चालक एवं गाड़ी की तलाशी हेतु आवश्यक दिशा-निर्देश के साथ सीसीटीवी कैमरा को बारीकी से चेक कर i10 गाड़ी व चालक को गिरफ्तार करने हेतु आवश्यक दिशा निर्देश दिए गए*।
उपरोक्त पुलिस टीम के द्वारा घटनास्थल एवं आसपास के *सीसीटीवी कैमरा को चेक करने पर i10 गाड़ी के चालक द्वारा उक्त घटना का किया जाना सामने आया। तथा किसी भी कैमरे मे गाड़ी का नंबर स्पष्ट दिखाई नहीं दिया गया* जिस पर उक्त टीम के द्वारा क्षतिग्रस्त आई-10 गाड़ी की तलाश की गई। उक्त घटना के अनावरण हेतु प्रभारी निरीक्षक ऋषिकेश के द्वारा
1- *दैनिक एवं रात्रि ड्यूटी के समस्त कर्मचारी गणों को प्रत्येक दिवस ड्यूटी के साथ-साथ उक्त i10 गाड़ी की तलाश करने हेतु भी आवश्यक दिशा निर्देश दिए गए*।
2- *घटनास्थल से गाड़ी के निकलने वाले रास्ते (आईडीपीएल, श्यामपुर, गंगानगर, गंगा बैराज, बाईपास रोड, व ऋषिकेश बाजार) पर पुलिस टीम द्वारा लगभग 86 सीसीटीवी कैमरा मैं उक्त गाड़ी को देखा गया परंतु यह गाड़ी नहीं मिली।*
3- *उक्त पुलिस टीम द्वारा जनपद देहरादून, जनपद हरिद्वार जनपद टिहरी गढ़वाल व पौडी गढ़वाल के आर.टी.ओ कार्यालय से भी संपर्क कर जितनी भी नई i10 गाड़ी का रजिस्ट्रेशन हुआ है, उनकी सूची लेकर सभी गाड़ी मालिकों से संपर्क किया गया।*

4- जिस पर *प्रभारी निरीक्षक द्वारा उक्त टीम को उपरोक्त क्षेत्रों के एक-एक घर को तलाश करने हेतु कहा गया।*

*जिस पर पुलिस के कठिन परिश्रम व अथक प्रयासों के द्वारा एक माह के पश्चात घटनास्थल के आसपास सभी क्षेत्रों (आईडीपीएल, श्यामपुर, गंगानगर, गंगा बैराज, बाईपास रोड, व ऋषिकेश बाजार) मैं बने घरों का बारीकी से तलाश करने पर उक्त i-10 गाडी विस्थापित मे घर पर बने एक गैराज में क्षतिग्रस्त हालत में खड़ी मिली। बाद पूछताछ के पता चला कि उक्त i10 गाड़ी के चालक द्वारा ही दिनांक 10 अक्टूबर 2018 को एम्स अस्पताल के सामने टक्कर मारी गई थी। जिसमें दो लड़कों की घटनास्थल (मौके) पर ही मृत्यु हो गई थी। चालक के द्वारा उक्त गाड़ी की मरम्मत नहीं कराई गई है यह गाड़ी वर्तमान में भी क्षतिग्रस्त ही बरामद हुई है।*
********************************
*घटना दिनांक 12 अक्टूबर 2018*
********************************
*घटनास्थल- गेट नंबर 3, एम्स अस्पताल के सामने*
********************************
*मृतक–*
“”””””””””
1- *कुबेर चंद्र पुत्र धनीराम निवासी गजारी पोस्ट कोटाबाग कालाढूंगी नैनीताल*
*उम्र 26 वर्ष*

2- *रोहित पुत्र रामप्रसाद निवासी कृष्णा नगर आईडीपीएल ऋषिकेश*
*उम्र 25 वर्ष*
*********************************

*चालक नाम पता–*
“””””””””””””””””””””””‘
*विनोद रावत पुत्र स्वर्गीय सूरत सिंह रावत निवासी गली नंबर- 3, बी ब्लॉक विस्थापित आईडीपीएल ऋषिकेश।*
*उम्र 30 वर्ष**

*वाहन नंबर* —
*आई -10 — UK07AZ5137*

**********************************
*पूछताछ- विवरण–*
“”””””””””””””””””””””””””
*चालक द्वारा उक्त घटना को उसके द्वारा ही किया जाना स्वीकार किया गया। उसके द्वारा बताया गया कि यह घटना अचानक हुई है। इस घटना के पश्चात मे इतना डर गया था, कि मैंने उस गाड़ी को अपने गैराज में छुपा कर खड़ा कर दिया, तथा किसी को भी उक्त घटना की जानकारी नहीं दी। इसके पश्चात मैं दिल्ली अपनी नौकरी में वापस आ गया था।*
*******************************
अभियुक्त को आज गिरफ्तार किया गया तथा समय से मान्य न्यायालय के समक्ष पेश किया जाएगा।
“”””””””””””””””””””””””””””””””””””””””””””””””
*नोट- उक्त घटना का कोई साक्ष्य नहीं था और चालक व गाड़ी के संबंध में भी कोई जानकारी नहीं थी, जिसका तत्काल अनावरण होना पुलिस के लिए एक चुनौती था। पुलिस के द्वारा तत्काल की गई कार्यवाही व किए गए प्रयासों के द्वारा उक्त घटना को कारित करने वाले चालक को गिरफ्तार कर उक्त घटना में प्रयुक्त वाहन को भी बरामद करने पर मृतकों के परिवार जनों द्वारा बहुत अधिक प्रशंसा की गई, तथा पुलिस अधिकारियों व आम जनता के द्वारा भी ऋषिकेश पुलिस की मृतकों को न्याय दिलाने हेतु की गई इस कार्यवाही की बहुत अधिक प्रशंसा की गई है।*

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here