FeaturedNational NewsUttarakhand News

थानाध्यक्ष सहसपुर के नेतृत्व में पुलिस टीम ने 75 लाख अंतरराष्ट्रीय कीमत की 356 ग्राम स्मैक के साथ स्मैक तस्कर पुलिस ने किया गिरफ्तार पुलिस की बड़ी कामयाबी

UK/ सहसपुर

थानाध्यक्ष सहसपुर के नेतृत्व में पुलिस ने 75 लाख अन्तर्राष्ट्रीय कीमत की 356 ग्राम स्मैक के साथ एक शातिर अभियुक्त को किया गिरफ्तार

देहरादून जनपद के थाना क्षेत्र के अंतर्गत मादक पदार्थों की तस्करी एवं बिक्री के विरुद्ध अभियान में पुलिस क्षेत्राधिकारी विकासनगर के पर्यवेक्षण में तथा थानाध्यक्ष सहसपुर नरेंद्र सिंह गहलावत के नेतृत्व में गठित टीम एसएसआई कुलदीप पन्त का0 1259 दीपक कुमार, चालक महेन्द्र मय सरकारी वाहन संख्या यू0के0 07 जी0ए0 -0301 शान्ति व्यवस्था एवं चैकिग तथा संदिग्ध व्यक्ति हेतु अन्दर इलाका थाना क्षेत्र रवाना होकर गस्त करते हुए लांघा रोड पर चैकिग कर रहे थे जैसे ही

खुशहालपुर चौक से आगे नसीन की डेरी की बायी तरफ सडक पर झोपडी के पास एक व्यक्ति पुलिस की गाडी देखकर तेज कदमो से हरर्बटपुर की तरफ चलने लग गया। पुलिस को शक होने पर गाडी को तेज गति से चलाकर संदिग्ध व्यक्ति को एस एसआई कुलदीप पन्त द्वारा पकड लिया। उक्त संदिग्ध व्यक्ति से जब नाम पता पूछा तो उसने अपना नाम शराफत पुत्र शखावत निवासी निकट जानकी देवी इण्टर कालेज के पास मौहल्ला सराय थाना फतेहगंज जनपद बरेली उ0प्र0 उम्र 35 वर्ष बताया। पूछताछ में सही उत्तर न देने पर जामा तलाशी ली गयी तो इस व्यक्ति के पास एक कपड़े का थैला जो अपने बगल में दबाये हुए था। जिसके अन्दर एक पीले रंग की पन्नी में 356 ग्राम स्मैक बरामद हुई। इस पर अभियुक्त को दिनांक 25-02-2021 को समय 23.30 बजे गिरफ्तार कर नियमानुसार अन्य कार्यवाही की गयी व थाना सहसपुर मु0अ0सं0 46/2021 धारा 8/21 एन0डी0पी0एस0 एक्ट में पंजीकृत किया गया।
उक्त अभियुक्त शराफत ने पूछताछ पर बताया कि मैं बरेली के फतेहगंज में जानकी देवी इण्टर कालेज के पास वार्ड नं0 15 मौहल्ला सराय में रहता हूँ। मैं पुरानी गाड़ियों को खरीद व फरोक्त का कार्य करता हूँ और साथ ही मैं स्मैक बेचने भी बेचता हूँ। मैं पिछले एक वर्ष से यह कार्य कर रहा हूँ। लॉकडाउन में मेरा स्मैक बेचने का काम बन्द हो चुका था। लेकिन मैंने पैसे के लालच में स्मैक बेचने का कार्य फिर शुरू कर दिया। दिनांक 24-02-2021 को मेरे द्वारा फतेहगंज निवासी इफाकत, जिसकी जैनूल इलैक्ट्रानिक की दुकान फतेहगंज में ही है से ढ़ाई लाख रूपये एडवांस देकर यह स्मैक खरीदी थी। जिसको मैं बेचने के लिए मेहराज नाम की महिला के पास आ रहा था। जो खुशहालपुर में रहती है। यहां खड़ा होकर मैं उसके द्वारा भेज गये व्यक्ति का इन्तजार कर रहा था कि मुझे पुलिस द्वारा पकड़ लिया गया। हमारे यहां फतेहगंज में ओर भी लोग यह कार्य करते हैं। जो कि कच्चा माल राजस्थान, झारखण्ड से लेकर आते हैं और फतेहगंज में स्मैक व अन्य नशीले पदार्थ तैयार करते हैं। जिनके नाम रिजवान, मलिक, बब्बू, सोनू, ईशाकत व हफिजन हैं जो फतेहगंज के निवासी हैं पुलिस ने बताया कि इनके विरूद्ध भी साक्ष्य एकत्रित कर वैधानिक कार्यवाही की जाएगी।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button