देहरादून,काँग्रेस कार्यकर्ताओं ने कृषि मंत्री सुबोध उनियाल को सौंपा ज्ञापन।

0
176

देहरादून,कृषि मंडी की दुकानों का किराया बढ़ाने के विरोध में महानगर अध्यक्ष लालचन्द शर्मा ने कृषि मंत्री सुबोध उनियाल से मुलाकात कर उन्हें पत्र सौंपते हुए कृषि उत्पादन मण्डी,देहरादून में दुकानों का किराया पूर्व की भांति यथावत रखे जाने का अनुरोध किया।लालचन्द शर्मा ने कृषि मंत्री को अवगत कराते हुए कहा कि ऐसा संज्ञान में आया है कि कृषि विभाग द्वारा देहरादून निरंजनपुर कृषि उत्पादन मण्डी परिसर में स्थित दुकानों के किराये को दुगना करने की तैयारी की जा रही है जो कि न्यायोचित प्रतीत नहीं होता है।उन्होंने कहा कि वर्तमान में पूरा देश कोरोना महामारी की भयंकर चपेट में है,तथा देहरादून में भी महामारी चरम पर है,जिसके चलते प्रदेशभर का व्यापारी वर्ग आर्थिक मंदी झेल रहा है तथा उनकी आर्थिक स्थिति डांवाडोल हो चुकी है तथा कई व्यापारियों के सामने परिवार के भरण-पोषण का भी संकट खड़ा हो गया है।ऐसे में कृषि उत्पादन मण्डी परिषद द्वारा अपनी आय बढ़ाने के साधन के रूप में मण्डी परिसर की दुकानों का किराया दुगना किये जाने से व्यापारियों की कमर ही टूट जायेगी। उन्होंने कृषि मंत्री से अनुरोध किया कि कोरोना महामारी के चलते व्यापारियों की कमजोर हो चुकी आर्थिक स्थिति को देखते हुए देहरादून कृषि उत्पादन मण्डी परिसर माजरा की दुकानों के किराये में वृद्धि को रोका जाय।एक अन्य पत्र में लालचन्द शर्मा ने कृषि मंत्री सुबोध उनियाल से कृषि उत्पादन मण्डी, देहरादून में कोरोना महामारी के चलते आढतियों के साथ-साथ मण्डी परिषद में कार्यरत कर्मचारियों का भी टेस्ट करवाये जाने के आदेश दिये जाने का आग्रह किया है।उन्होंने कहा कि देहरादून कृषि उत्पादन मण्डी परिसर,निरंजनपुर माजरा में कोरोना संक्रमितों के मामले दिन-प्रतिदिन बढ़ते जा रहे हैं।जिनकी रोकथाम करना अत्यंत आवश्यक है।उन्होने कहा कि देहरादून स्थित निरंजनपुर कृषि उत्पादन मण्डी परिसर में महामारी के खतरे को देखते हुए आढतियों तथा उनके स्टाफ का तो कोरोना टेस्ट कराया जा रहा है परन्तु मण्डी मे कार्यरत कर्मचारियों का टेस्ट नहीं कराया जा रहा है।जिससे संक्रमण का भय बना हुआ है।उन्होंने मांग की कि देहरादून मण्डी परिसर माजरा में संक्रमण की रोकथाम हेतु आढतियों तथा दुकानदारों व उनके कर्मचारियों के साथ-साथ मण्डी परिषद में कार्यरत कर्मचारियों की भी रेंडम टेस्टिंग करवाई जाय ताकि इस महामारी को फैलने से रोका जा सके।साथ ही उन्होंने कृषि मंत्री से यह भी आग्रह किया कि स्थानीय उत्पादकों की फसलों को मण्डी में प्रवेश की अनुमति नहीं दी जा रही है,जिससे उनकी फसलें खराब हो रही हैं।उन्होंने कहा कि स्थानीय फल,सब्जी उत्पादकों को मण्डी में प्रवेश की अनुमति दी जाय।कृषि मंत्री श्री सुबोध उनियाल ने दोनों मामलों में उचित कार्यवाही का आश्वासन देते हुए संबंधित अधिकारी को फिलहाल किराया न बढ़ाने तथा कर्मचारियों के भी टेस्ट करने के निर्देश दिए।इस अवसर पर नीरज नेगी,राजू बहुगुणा एवं सतीश आनंद भी उपस्थिति थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here