देहरादून,पुलिस लाइन में पुलिस अधिकारियों के साथ मीटिंग करते डी,आई,जी अरुण मोहन जोशी।

0
618

देहरादून, आज 28 मई को उपमहानिरीक्षक/वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक देहरादून द्वारा जनपद के समस्त राजपत्रित अधिकारियो/थाना प्रभारियों के साथ पुलिस लाइन देहरादून में वर्तमान में कोरोना वायरस के बढते संक्रमण के दृष्टिगत गोष्ठी आयोजित की गयी।गोष्ठी के दौरान डी,आई,जी अरुण मोहन जोशी द्वारा उपस्थित अधिकारियों को निर्देशित किया कि वह अपने अधीनस्थ नियुक्त समस्त अधिकारियो,कर्मचारियो को वर्तमान में कोरोना वायरस के बढते संक्रमण के दृष्टिगत सभी संक्रमण से सुरक्षा हेतु सभी सुरक्षा उपायों को अपनाते हुए अपने कर्तव्यों का निर्वहन करने के लिये भली भांति ब्रीफ कर दें। इसके लिये सुरक्षा उपायों के प्रोटोकाल को दैनिक कार्यों के साथ ड्रिल के रूप में इस्तेमाल किया जाये तथा पुलिस के तमाम कार्यों के दौरान उक्त प्रोटोकाल का अनिवार्य रूप से अनुपालन सुनिश्चित कराया जाये।थाना स्तर पर ऐसी आवश्यक ड्यूटियां,जिनमे एक से अधिक कर्मचारी यूनिट के रूप में कार्य कर रहें हैं, उन्हें चिन्हित कर लिया जाये,शेष अन्य ड्यूटियों में न्यूनतम दूरी के मानकों का अनुपालन सुनिश्चित कराया जाये।लाॅक डाउन के दौरान अब तक के दौर में सभी पुलिस कर्मियों द्वारा पूरी लगन एवं कर्तव्यनिष्ठा के साथ उनके सम्मुख आयी चुनौतियों का डटकर सामना किया गया है। कानून व्यवस्था की दृष्टि से मुश्किल समय निकल चुका है,परन्तु संक्रमण के लिहाज से सबसे मुश्किल दौर अब हमारे समक्ष है,जिसमे हमने स्वंय का बचाव सुनिश्चित करते हुए अपने कर्तव्यों का इसी प्रकार मेहनत व लगन के साथ निर्वहन करना है।इसके अतिरिक्त पुलिस उप महानिरीक्षक/वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक देहरादून द्वारा उपस्थित सभी अधिकारियों को निर्देशित किया कि वह अपने अधीनस्थ नियुक्त अधिकारी,कर्मचारियों को सख्त हिदायत देदें कि अनुशासन से किसी भी प्रकार का समझौता नहीं किया जायेगा।थाना स्तर पर विभागीय दायित्वों के प्रति किसी भी प्रकार की शिथिलता अथवा किसी भी प्रकार की अवैध गतिविधी के सम्बन्ध में सम्बन्धित थाना प्रभारी की जवाबदेहीता सुनिश्चित की जायेगी।रात्री गश्त पर विशेष फोकस किया जाये, रात्रि में नियुक्त होने वाली पिकेट व गश्त की सम्बन्धित अधिकारी नियमित रूप से चैकिंग करना सुनिश्चित करें। वर्तमान में लाकडाउन के दौरान अधिकतर व्यक्तियों को आर्थिक रूप से काफी परेशानियों का सामना करना पड रहा है,इसलिये सभी थाना प्रभारी इस बात को सुनिश्चित करेंगे कि उनके अधीनस्थ नियुक्त अधिकारी,कर्मचारी आम जनमानस से वार्तालाप करते समय उनके दर्द को महसूस करते हुए उनकी हर सम्भव सहायता करने का प्रयास करें।आम जनमानस के साथ किसी भी प्रकार की अभ्रदता बर्दाश्त नहीं की जायेगी। यदि किसी व्यक्ति द्वारा ड्यूटी के दौरान आपसे अनावश्यक रूप से उलझने का प्रयास किया जाता है तो ऐसे व्यक्तियों के विरूद्ध आवश्यक वैधानिक कार्यवाही करना सुनिश्चित करें। उक्त गोष्ठी के दौरान समस्त पुलिस अधिकारी व थाना प्रभारी मौजूद रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here