देहरादून,पौड़ी जिले में एस,एस,पी कार्यालय में तैनात महिला कॉन्स्टेबल मंजू बालियां को कोरोना योद्धा के रुप सम्मानित किया गया।

0
474

अंतरराष्ट्रीय योग दिवस 21 जून कोविड-19 के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए महिला पुलिसकर्मी मंजू बालियान ने पेश की एक नई मिसाल जनपद पौड़ी के ग्राम चारधार मैं भूत पूर्व जिला पंचायत सदस्य श्रीमती कुसुम नेगी व ग्राम प्रधान चरधार संगीता बिष्ट द्वारा भरत रावत ग्राम के सुंदरा,देवेंद्र रावत जिला विधिक सेवा प्राधिकरण पौड़ी,आशा कार्यकर्ता,आंगनवाड़ी कार्यकर्ता व कुछ समाज की महिलाओं की उपस्थिति मे महिला पुलिसकर्मी मंजू बालियान को उनके कार्यों की सराहना करते हुये सम्मानित किया जनपद हरिद्वार निवासी महिला पुलिसकर्मी मंजू बालियान वर्तमान में वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक कार्यालय पौड़ी में तैनात हैं covid-19 के बढ़ते हुए संक्रमण को रोकने के लिए वैसे तो बहुत से पुलिसकर्मी,डॉक्टर,सफाई कर्मी,कोरोना वायरस को हराने में जी-जान से लगे हैं पौड़ी एस,एस,पी ऑफिस में तैनात महिला पुलिसकर्मी मंजू बालियान अपनी जान की परवाह किए बगैर मदद के लिए बेखौफ निकल पड़ती है मंजू की एक अनूठी पहल को देखते हुए अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर महिलाओं बेरोजगार युवाओं दिव्यांगों सीनियर सिटीजंस को स्वावलंबी बनाने में महिला जागरूकता एवं महिला सशक्तिकरण व निशुल्क परामर्श हेतु अपने सुझाव पेश किये गए,राजकीय उच्चतर विद्यालय गांव चरधार जनपद पौड़ी मै सोशल डिस्टेंस का पूरी तरह से पालन करते हुए उन्होंने उत्तराखंड को पॉलिथीन मुक्त करने एवं महिलाओं को महामारी के समय स्वच्छता बरतने पर अभियान चलाकर महिलाओं को सेनेटरी पैड व कपड़े की थैलो का निशुल्क वितरण किया मंजू बालियान द्वारा पॉलिथीन का बहिष्कार पर पूरी तरह से जोर देते हुए पॉलिथीन से पर्यावरण को होने वाले नुकसान के विषय में लोगों को जागरूक किया।इसके साथ ही गाय प्रेमियों को सुझाव देते हुए बताया कि पॉलीथीन के ना गलने और सड़ने पर किस प्रकार हमारे मानव जाति,पशु पक्षियों और पर्यावरण को नुकसान पहुंचता है,उन्होंने यह भी बताया कि पॉलिथीन को जलाने के बाद इसमें से फ्लोरो कार्बन निकलकर ओजोन परत को नष्ट कर पर्यावरण को पॉलिथीन किस प्रकार नुकसान पहुंचाती है।पॉलिथीन का बहिष्कार करते हुए उन्होंने कपड़े के थैलो का निशुल्क वितरण किया,इसके साथ ही उन्होंने महिलाओं को covid 19 के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए माहवारी के समय स्वच्छता ना रखने पर उससे होने वाले गंभीर परिणामों से भी महिलाओं को अवगत कराया।महिलाओं को बताया उन्होंने कि सेनेटरी पैड का इस्तेमाल न करने पर और रंगीन कपड़ों का महावारी के समय इस्तेमाल करने पर गर्भाशय पर किस प्रकार के विपरीत प्रभाव पड़ते हैं।या कैंसर जैसी बीमारियों को पनपने में किस प्रकार सहायता मिलती है।मंजू बालियान ने बताया कि कपड़ों का महावारी के समय प्रयोग करने पर यूरिन में इंफेक्शन व रशेस की समस्या उत्पन्न हो जाती है।और महिलाएं बीमारियों के शिकार हो जाती है उन्होंने महिलाओं को सेनेटरी पैड की उपयोगिता बताते हुए उनउन्होंने सभी महिलाओं को सैनिटरी पैड भी निशुल्क वितरण किये।इसके पश्चात चाइना पर एलएसी में हमारे बीच भारतीय जवानों के शहीद हो जाने पर उनके द्वारा महिलाओं के साथ मिलकर सभी शहीदों को विनम्र श्रद्धांजलि भी दी गई,महिला पुलिसकर्मी मंजू बालियान की ड्यूटी के साथ-साथ सामाजिक कार्यों में अपना पूरा योगदान निस्वार्थ भाव से तन मन धन से किया जा रहा है,वैसे तो महिला पुलिसकर्मी के उल्लेखनीयव सराहनीये कार्यों को देखते हुए पौड़ी के कई गांव द्वारा महिला को सम्मानित किया जा चुका है।पूरा समाज महिला के कार्यों की सराहना करता है ऐसी महिला पुलिसकर्मी के जज्बे को हम सभी सलाम करते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here