देहरादून, उत्तर प्रदेश में मनीषा के साथ सामुहिक बलात्कार के बाद हुई मौत पर कोंग्रेस भवन में महिला काँग्रेस ने दो मिनिट का मौन धारण करके मनीषा के दरिंदों को फांसी की मांग की।

0
416

आज 29 सितंबर को महिला कांग्रेस दफ्तर मे महानगर अध्यक्ष कमलेश रमन के नेत्रत्व मे 19 वर्षीय मनीषा बाल्मीकि की सामूहिक बलात्कार के बाद हुई मृत्यु एवं महिलाओं पर बढ़ रहे अत्याचार के विरोध मे 2 मिनट का शोक व्यक्त करके अपना विरोध दर्ज कराया.जिला हाथरस के थाना चंदपा अंतर्गत बुलगढ़ी निवासी कुमारी मनीषा वाल्मीकि की आज सफदरजंग अस्पताल मे मृत्यु हो गयी,उसे कल यहाँ अलीगढ़ से रिफर किया गया था।19 साल की मनीषा बाल्मीकि का सामूहिक बलात्कार कर उसकी जीभ काट दी गई,रीढ़ की हड्डी तोड़ दी गयी।इतने जघन्य अपराध के बाद भी अभी तक किसी की भी गिरफ़्तारी नही की गयी।कमलेश रमन ने कहा की भाजपा सरकार के राज मे महिलाओं के खिलाफ अत्याचार चरम पर है इसका मतलब ये है कि बेटी को बचाना है पर भाजपा से और भाजपा के नेताओं से जबसे भाजपा सत्ता मे आयी है,तबसे महिलाएं सुरक्षित नही है।
डॉ प्रतिमा सिंह ने कहा कि महिलाओं और दलितोँ पर बढ़ रहे अत्याचार भाजपा की दलित विरोधी मानसिकता को दर्शाता है।महिलाओं पर बढ़ रहे अत्याचार भाजपा के बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ के नारे को खोखला साबित करती है।विरोध मे कमलेश रमन, डॉ प्रतिमा सिंह,अनुराधा तिवारी,सावित्री थापा,बबिता सिंह,मंजु चौहान,उदिमा टोलिया,अनूप पासी आदि मौजूद थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here