FeaturedNational NewsUttarakhand News

देहरादून, उड़ीसा से अपहरण के मामले में वांछित आरोपी राजीव दुआ को देहरादून पुलिस की मदद से उड़ीसा पुलिस ने रायपुर से किया गिरफ्तार।

देहरादून सम्बलपुर, उड़ीसा से अपहरण के मामले में वांछित मुख्य आरोपी को दून पुलिस द्वारा देहरादून से किया गिरफ्तार दिनाक: 25 जुलाई 2020 को पुलिस अधीक्षक सम्बलपुर,उडीसा द्धारा दूरभाष के जरिये पुलिस उपमहानिरीक्षक व वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक देहरादून से वार्ता कर उन्हें अवगत कराया कि सम्बलपुर जिले के सासन थाना क्षेत्र से दिनाक 10 जुलाई 20 को नामी कन्सट्रक्शन कारोबारी व व्यापारी का चार व्यक्तियों द्वारा अपहरण किया गया था।उक्त घटना में वांछित मुख्य आरोपी राजीव दुआ,जिसके द्वारा अपहरण की घटना का पूरा प्लान तैयार किया गया था,मूल रूप से जनपद देहरादून का ही रहने वाला है।तथा वर्तमान में देहरादून में कहीं छुपा हुआ है। साथ ही सम्बलपुर जिले से अभियुक्त की गिरफ्तारी हेतु 55 सीआरपीसी का नोटिस जरिये फैक्स प्राप्त हुआ।मामले की गम्भीरता के दृष्टिगत पुलिस उपमहानिरीक्षक एवं वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक देहरादून द्वारा तत्काल क्षेत्राधिकारी डोईवाला व एसओजी, दिनेश चंद्र ढौंडियाल के नेतृत्व में टीम गठित करते हुए अभियुक्त की गिरफ्तारी हेतु आवश्यक दिशा-निर्देश निर्गत किये गये।अभियुक्त की गिरफ्तारी हेतु टीम द्वारा सूचना तंत्र को मजबूत किया गया तथा इलैक्ट्रानिक सर्विलांस की सहायता से भी अभियुक्त के सम्बन्ध में जानकारी प्राप्त की गयी,इसी दौरान सर्विलांस के माध्यम से टीम को जानकारी प्राप्त हुई की अभियुक्त राजीव दुआ,रायपुर क्षेत्र में कहीं छुपा हुआ है,जिस पर प्रभारी निरीक्षक एसओजी तथा थानाध्यक्ष रायपुर के नेतृत्व में संयुक्त टीम द्वारा अभियुक्त राजीव दुआ की तलाश हेतु अभियान चालाया गया तथा मुखबिर की सूचना पर अभियुक्त राजीव दुआ को आज दिनाक: 26 जुलाई को डोभाल चौक,रायपुर के पास से गिरफ्तार किया गया।अभिुयक्त के कब्जे से घटना में प्रयुक्त की गयी स्विफ्ट कार व मोबाइल फोन बरामद किया गया।
नाम व पता गिरफ्तार अभुयुक्त राजीव दुआ पुत्र स्व0 मदन लाल दुआ,निवासी: 5 अंसारी मार्केट,पल्टन बाजार, देहरादून।पूछताछ में अभियुक्त राजीव दुआ द्वारा बताया गया कि उसकी पल्टन बाजार में कपडे की दुकान थी,परन्तु कारोबार ठीक से न चल पाने के कारण मैं वर्ष 2018 में अपने मामा रमेश आहुजा के पास सम्बलपुर,उडीसा चला गया तथा वहां अपना कपड़ो का कारोबार शुरू किया,लेकिन कारोबार न चल पाने के कारण राजीव दुआ पर काफी कर्जा हो गया। कारोबार के दौरान राजीव दुआ मुलाकात एक व्यक्ति सैफ निवासी सम्बलपुर से हुई,जो पेंट का काम करता था।तथा अक्सर मेरी दुकान पर कपड़े लेने आता था।सैफ द्वारा राजीव दुआ की मुलाकात राजा से करवाई गयी,चूंकि तीनो व्यक्ति काफी कर्जे में डूबे हुए थे, इसलिये इन्होंने मामा के पडोस में रहने वाले एक कारोबारी नरेश अग्रवाल का अपहरण कर फिरौती मांगने की योजना बनाई । योजना के मुताबिक पहले हमने तीन से चार माह तक नरेश अग्रवाल के आने-जाने तथा रोजमर्रा के कार्यों की रैकी की इस दौरान इन्होंने पाया कि नरेश अग्रवाल का सैशन बाईपास चौक के पास एक प्लाट था,जिसमें निर्माण कार्य चल रहा था तथा वह निर्माण कार्यों का जायजा लेने रोज उस प्लाट पर जाता था।इस पर हमारे द्वारा प्लाट के पास से ही उसका अपरहण करने की योजना बनाई तथा 10 जुलाई को पूर्व नियोजित योजना के तहत राजीव दुआ ने अपने साथियों को ऐडावाली चौक सम्बलपुर में मिलने के लिये बुलाया।अपहरण के लिय राजीव दुआ ने अपनी कार का इस्तेमाल किया तथा उसकी नम्बर प्लेट चेंज कर दी।वहां से राजीव दुआ,,सैफ,राजा तथा एक अन्य व्यक्ति,जिसे राजा अपने साथ लाया था,को लेकर सैशन बाईपास चौक के पास उक्त प्लाट पर पहुंचा जहाँ इनके पास नारियल काटने वाले हथियार थे।जैसे ही नरेश अग्रवाल प्लाट से वापस जाने के लिये अपनी गाडी की ओर गया,राजीव दुआ व उसके तीन अन्य साथियों ने उसे पकडकर गाडी में बैठा लिया तथा वहां से सभी फरार हो गये। योजना के मुताबिक ये लोग उसे बेहोश करके पहले से ही किराये पर लिये गये एक मकान मे ले गये।अपहरण करने के पश्चात हम उसके परिजनों को फिरौती के लिये फोन करने ही वाले थे कि हमे पता चला कि पुलिस द्वारा नरेश अग्रवाल की तलाश हेतु जगह-जगह छापेमारी व चैकिंग की जा रही है। जिससे हम सभी काफी घबरा गये तथा उसी दिन लगभग सात से आठ घंटे के बाद नरेश अग्रवाल को उसके घर के ही पास छोडकर फरार हो गये उसके पश्चात राजीव दुआ 18 जुलाई को अपनी कार से उडीसा से देहरादून आ गया था।जिसके पास से घटना में प्रयुक्त स्विफ्ट कार व घटना में प्रयुक्त मोबाइल फोन बरामद किए गये।
पुलिस टीम :- दिनेश चन्द्र ढौंडियाल,क्षेत्राधिकारी डोईवाला,एसओजी,निरीक्षक एश्वर्य पाल,प्रभारी एसओजी,उ0नि0 अमरजीत सिंह,थानाध्यक्ष रायपुर, व0उ0नि0 मोहन सिंह,एस0ओ0जी0,व0उ0नि0 अजय रावत,थाना रायपुर कां0अमित,कां0 पंकज,का0ललित,का0 देवेंद्र,का0विपिन,कां0 आशीष शर्मा,कां0 प्रमोद कुमार एसओजी

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button