पहाड़ों की रानी मसूरी में आने वाले को कोरोना की नेगेटिव रिपोर्ट लाना अनिवार्य, भीड़ बढ़ने पर पुलिस प्रशासन हुआ सख्त

0
163

उत्तर भारत के प्रसिद्ध हिल स्टेशंस पर पर्यटकों का तांता लगा हुआ है. बड़ी संख्या में सैलानी शहर पहुंच रहे हैं, लेकिन सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं हो रहा है. इसी तरह पहाड़ों की रानी मसूरी (Musoorie) में लगातार सैलानियों की भीड़ उमड़ रही है.

शहर के अधिकांश होटल सैलानियों से पैक हैं, लेकिन शहर में आने वाले ज्यादातर सैलानी कोरोना गाइडलाइन का पालन नहीं कर रहे. ऐसे में पुलिस प्रशासन ने सख्त कदम उठाए हैं.

मसूरी में प्रवेश करने के लिए सभी सैलानियों को कोरोना निगेटिव जांच रिपोर्ट साथ लाना अनिवार्य कर दिया गया है.कोविड प्रोटोकॉल्स के उल्लंघन के बाद प्रशासन ने मसूरी आने के लिए नियम और सख्त बना दिए हैं.

शहर में आने के लिए सभी सैलानियों को कोरोना निगेटिव जांच रिपोर्ट के साथ होटल की बुकिंग करवाना जरूरी कर दिया है. जिनके पास कोरोना जांच रिपोर्ट नहीं होगी, उनको मसूरी के कोल्हूखेत से वापस भेज दिया जायेगा.

मैदानी क्षेत्रों में गर्मी की तपिश बढ़ने के बाद पहाड़ों की रानी मसूरी में सैलानियों की संख्या भी बढ़ने लगी है,

लेकिन शहर में पहुंच रहे सैलानी कोरोना गाइडलाइन का उल्लंघन कर रहे हैं. बिना मास्क के घूमना और सोशल डिस्टेंसिंग का उल्लघंन करना आम बात हो गई है. शहर में पहुंचे सैलानी मसूरी के खुशनुमा मौसम का लुत्फ उठा रहे हैं, लेकिन कोरोना के खौफ से अनजान बने हैं

.मसूरी के पुलिस अधिकारी नरेन्द्र पंत ने कहा, ”जिन सैलानियों के पास ऑनलाइन होटल बुकिंग होगी, कोरोना की जांच रिपोर्ट होगी उनको ही मसूरी आने दिया जायेगा. ” वहीं, पंजाब से आईं सैलानी सिमरन कहती हैं कि मसूरी आकर बहुत अच्छा लग रहा है.

लोगों को मास्क पहनना चाहिए, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना चाहिए, लेकिन जब खुद मास्क नहीं पहने रहने पर जब पूछा गया तो उन्होंने बात करने से मना कर दिया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here