बंद घरों में चोरी करने वाले तीन शातिर चोर लाखों की ज्वेलरी व मय नगदी के साथ पुलिस ने किया गिरफ्तार

0
852

पुलिस के द्वारा हिंदी मैग्जीन के मीडिया प्रभारी नरेंद्र कुमार राठौर देहरादून उत्तराखंड।

कोतवाली नगर देहरादून।*

*बन्द घरो मे चोरी करने वाले तीन शातिर चोर मय नगदी व लाखो की ज्वैलरी के साथ गिरफ्तार।*

विगत दिनो मे देहरादून के नगर क्षेत्र में बंद घरो मे चोरी होने के प्रकरण प्रकाश मे आने पर वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक महोदय द्वारा घरो मे चोरी होने की घटनाओ को गंभीरता से लेते हुए सभी थाना प्रभारीयो को अपने अपने थानों पर थाना स्तर से टीम बनाकर घटनाओं के अनावरण हेतु निर्देशित किया गया था। जिसके क्रम मे पुलिस अधीक्षक नगर व क्षेत्राधिकारी नगर महोदय के निकट पर्यवेक्षण मे प्रभारी निरीक्षक कोतवाली नगर व वरिष्ठ उ0नि0 के नेतृत्व मे थाना स्तर पर एक टीम का गठन किया गया। टीम द्वारा शहर मे हो रही घरो के अन्दर चोरीयो के घटना स्थल का निरीक्षण किया गया तथा आसपास लगे सीसीटीवी फूटेज भी चेक किये गये, जिसमे कुछ संदिग्ध व्यक्ति प्रकाश मे आये एंवम हाल ही में जेल से छूटे अपराधियो के बारे मे जानकारी की गयी तथा फूटेज से प्राप्त फोटो को वट्सअप व फेस बुक व सोशल मीडीया के माध्यम से तलाश हेतु प्रचार प्रसार किया गया तथा पुलिस सूत्रो को भी उक्त की तलाश हेतु आवश्यक दिशा निर्देश देकर तलाश मे लगाया गया। इसी क्रम मे आज दिनांक 19/07/18 को टीम को पुलिस सूत्रो द्वारा बताया की जिन चोरो की आप तलाश कर रहे है, उनमे से एक चोर बन्दर वाली गली, मुस्लिम कालोनी मे रेकी करते हुए घुम रहा है। इस सूचना पर पुलिस टीम बन्दर वाली गली पहुची, यहां पर संदिग्ध रुप से घुम रहे एक युवक शोयब को पकड़ लिया, जिसके कब्जे से चोरी के पैसे बरामद हुए तथा सख्ती से पूछताछ करने पर उसने बताया की मेरे दो साथी और है, जो मुस्लिम कालोनी मे किराये के मकान मे रहते है तथा हम तीनो मिलकर बन्द घरो मे चोरी करते है, इस पर जनता के गवाह साथ लेकर इमरान सिद्दीकी के घर पर गये ऊपरी मंजिल पर किराये वाले कमरे को शोयब द्वारा खुलवाया गया तो कमरे के अन्दर दो लड़के मौजूद मिले, जो पुलिस को देखकर भागने का प्रयास करने लगे। जिनको वही पकड़ा गया, इनकी तथा कमरे की तलाशी लेने पर चोरी से सम्बन्धी ज्वैलरी व नगदी तथा एक मोटर साईकिल, जो की मुकदमा वादी श्री मौ0 फराहिम निवासी लक्खीबाग थाना कोतवाली नगर के घर से दिनांक 01/03/18 की रात्री को घर से ज्वैलरी व नगदी चोरी होने के सम्बन्ध मे थाना हाजा पर अभियोग पंजीकृत है तथा नगदी बरामदगी के संबध मे मुकदमा वादी नाज निवासी मुस्लिम कालोनी लक्खीबाग देहरादून के घर से दिनांक 15/07/18 की रात्री को ताला तोड़ कर एक लाख रुपये चोरी करने के सम्बन्ध मे थाना हाजा मे अभियोग पंजीकृत है, उक्त दोनो घटनाओ को करना स्वीकार किया है। इनको गिरफ्तार कर आज मा0 न्यायलय पेश किया जा रहा है।

*नाम पता अभियुक्त गणः-*

1- शोयब पुत्र जुल्फूकार निवासी बागरी दरवाजा महल सराय थाना धामपुर जिला उ0प्र।
2- मौ0 परवेज पुत्र मौ0असलम निवासी मौहल्ला बागरी दरवाजा महल सराय थाना धामपुर उ0प्र।
3- फिरोज पुत्र फरीद अहमद निवासी उपरोक्त।

*बरामद माल :-*

1- 02 गले के सोने के सेट,
2- 02 लेडीज अंगूठी,
3- 01 जेंट्स अंगूठी सोने की,
4- 01 हीरे की अंगूठी सोने की,
5- 02 बालियां सोने की,
6- 04 नाक की लौंग सोने की,
7- 01 आलनकब,
8- एक मोटरसाइकिल splendor ( *कुल कीमत करीब 4,50,000 /-) संबंधित मुकदमा अपराध संख्या 132/18 धारा 380/411 भादवि थाना कोतवाली नगर।*
2- नगद ₹ 60,000/-, एक मोबाइल Nokia ( *कुल बरामदगी करीब 80 हजार ₹ ) संबंधित मुकदमा अपराध संख्या 331/18 धारा 457/380 भादवि, थाना कोतवाली नगर, देहरादून)*

*पूछताछ का विवरण :-*

पूछताछ पर अभियुक्तगण द्वारा बताया की यह तीनों यहां करीब 5-6 महीनों से किराए के मकान में रह रहे हैं, जिसमें शोयब एक हाथ से अपाहिज है जो घरों की रैकी का काम करता है। परवेज कपड़े सिलाई का रिस्पना पुल के पास एक टेलर की दुकान पर काम करता है तथा फिरोज रायपुर में स्टील वेल्डिंग की दुकान पर काम करता है। अभी किसी की शादी नहीं हुई है, तीनों को ज्यादा पैसा कमाने का जुनून है, जो किसी भी तरीके से बस पैसा कमाना चाहते थे। इसी के लिए इन तीनों ने योजना बनाई की काम के साथ-साथ बंद घरों में चोरी करके मोटा पैसा कमा कर अपने घर वापस चले जाएंगे। इस योजना के आधार पर ही पहली चोरी मार्च के प्रथम सप्ताह में शोयब द्वारा रैकी कर लक्खीबाग मोहल्ले में एक बंद घर को चिन्हित किया, जिसमें हम तीनों ने घुसकर अलमारी में रखे ज्वेलरी व नकदी चोरी करके अपने पास कमरे में रख ली थी। नगदी से हमने पुरानी मोटरसाइकिल खरीद ली थी। उसके बाद हम लोग काम पर चले गए व शोयब घरों की रैकी करता रहा। इस बीच मुस्लिम कॉलोनी में ही 1-2 घर पर चोरी का प्रयास किया किंतु उसमे सफल नहीं हो पाए थे। इसके बाद फिर अभी हाल ही में 15 तारीख की रात्रि को एक बंद घर का रॉड से ताला तोड़कर अंदर घुसकर अलमारी में रखे ₹ 1,00,000/- नगद चोरी कर लिए थे, वहां हमें ज्वेलरी नहीं मिली थी। रुपयों को आपस में बांट लिया था, जिसमे से बाकी खर्चा हो गया और बचा हुआ ₹ 60,000/- जो हम तीनों से बरामद है, वह इसी चोरी का है। आज फिर शोयब फिर बंद घरों की रैकी करने निकला था कि पकड़ा गया। आलनकब रॉड फिरोज अपनी दुकान से लाया था।
उल्लेखनीय है कि उपरोक्त तीनों अभियुक्त गण अत्यंत शातिर प्रवर्ति के हैं, जो योजनाबद्ध तरीके से बंद घरो में चोरियों को अंजाम देते हैं। इनके द्वारा पूर्व में भी चोरी करना स्वीकार किया गया है, जिसके संबंध में संबंधित थानों से जानकारी प्राप्त की जा रही है। टीम द्वारा सूझबूझ से एक शातिर चोरों के गैंग का पर्दाफाश करने तथा लाखों की ज्वैलरी व नकदी बरामद करने में सफलता प्राप्त की है, जिसकी उच्चाधिकारी गणों व जनता द्वारा प्रशंसा की गयी है।

*पुलिस टीम :-*

1- श्री बी0बी0डी0 जुयाल, प्रभारी निरीक्षक कोतवली।
2- श्री अशोक राठौर, वरिष्ठ उप निरीक्षक थाना कोतवाली नगर।
3- उप निरीक्षक प्रदीप रावत, चौकी प्रभारी लक्खीबाग।
4- कां0 नवीन कुमार
5- कां0 प्रदीप सेमवाल
6- का0 रविशंकर
7- का0 अरविंद कुमार
8- का0 ललित
9- का0 राजेंद्र सिंह

:- अभियुक्तगणों के आपराधिक इतिहास की संबंधित थानों से जानकारी की जा रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here