विश्व पर्यावरण दिवस पर निरंकारी मिशन ने लिया पर्यावरण संरक्षण का प्रण

0
94

UK / विकासनगर
इलम सिंह चौहान की रिपोर्ट

  विश्व पर्यावरण दिवस पर निरंकारी मिशन ने लिया पर्यावरण संरक्षण का प्रण

जब हमारे पुरातन दूरदर्शी संतो ने दो अमूल्य वचन “वसुधैव कुटुंबकम” के साथ एक सकारात्मक दृष्टिकोण का सुझाव दिया गया तो उन्होंने निश्चित रूप से मानव जाति के साथ प्रकृति की एक संयुक्त इकाई की ओर संकेत दिया जो हमारे अस्तित्व का आधार बनाता है। सृष्टि कर्ता द्वारा रचित संपूर्ण शिक्षिका ध्यान रखना हमारा भी कर्तव्य है।
यह अनमोल वचन संत निरंकारी मिशन की आध्यात्मिक प्रमुख सतगुरु माता सुदीक्षा जी महाराज द्वारा दिया संदेश है , निर्माता द्वारा बनाई गई पूरी सृष्टि की देखभाल करना हमारा कर्तव्य है जो हमारे दृष्टिकोण में एक स्थाई परिवर्तन लाने में सहायक रहा है। मिशन ने अपनी सामाजिक शाखा संत निरंकारी चैरिटेबल फाउंडेशन के माध्यम से पिछले कई दशकों में वृक्षारोपण ,स्वच्छता अभियान और जल संरक्षण जैसे कई अभियानों द्वारा दुनिया भर में अपनी मजबूत छवि बनाई है। इस वर्ष 23 फरवरी को बाबा हरदेव सिंह जी की 67 वी जयंती के उपलक्ष पर संत निरंकारी मिशन में टाइम्स ऑफ इंडिया समूह के साथ मिलकर संपूर्ण भारत वर्ष में 1 लाख से अधिक वृक्ष लगाए हैं। इस अभियान द्वारा प्रतिभागियों को 3 साल तक पौधे का पोषण करने के लिए भी प्रेरित किया ,जब तक कि आत्मनिर्भर ना हो जाए।
मिशन और उनके सेवादारों ने इस अभियान के अंतर्गत रेलवे स्टेशन अस्पतालों नदियों पार्कों की स्वच्छता के साथ-साथ वृक्षारोपण में अपना महत्वपूर्ण योगदान दिया जिसके परिणाम स्वरूप भारत सरकार द्वारा मिशन को अपने स्वच्छ भारत अभियान के ब्रांड एंबेस्डर के रूप में चयनित करके समर्थन किया। जल संचयन ,सौर ऊर्जा उपयोग ग्रीन बिल्डिंग मानदंडों को अपनाना और मिशन द्वारा इसी तरह के कई और प्रयास हमारे पर्यावरण को जीवित रखने की प्रेरणा देते हैं।
इस वर्ष 5 जून पर्यावरण दिवस पर देशभर में जहां लॉकडाउन के कारण सीमाएं हैं और जिसके कारण नियमित रूप में अखिल भारतीय अभियान संभव नहीं है। किंतु इस वर्ष पारिस्थितिकी संतुलन के पुनर्स्थापना का संदेश जो 2021 में संयुक्त राष्ट्र का विषय है को एक आभासी विश्व मंडली के माध्यम से सभी भक्तों के साथ साझा किया गया है जो सभी को अपने स्थानीय परिस्थितिकी तंत्र के प्रति जागरूक होने के लिए प्रेरित करता है ।सतगुरु माता सुदीक्षा जी महाराज ने अपने पवित्र प्रवचन में सभी से पर्यावरण संतुलन के प्रति जाम होने की अपील भी की ,उन्होंने बाबा हरदेव सिंह जी की पंक्तियों को भी दोहराया ,जो हमें भारी प्रदूषण हटाने की याद दिलाते हैं ।इसके साथ ही हमारे मन के अंदर उत्पन्न होने वाले घृणा लालच अहंकार और अज्ञानता रूपी प्रदूषण को भी दूर करने के लिए प्रेरित करते हैं ।जिसके फलस्वरूप संपूर्ण विश्व में शांतिपूर्ण प्यार भरा वातावरण स्थापित हो जाएगा।
इसके अतिरिक्त संत निरंकारी मिशन रक्तदान शिक्षा निशुल्क स्वास्थ्य जांच शिविर प्राकृतिक आपदा प्रभावित परिवारों को राहत और पुनर्वास गांवों को गोद लेने युवा और महिला सशक्तिकरण कार्यक्रम आदि कल्याणकारी गतिविधियों के माध्यम से समाज को सुविधा प्रदान कर रहा है।
वैश्विक आपदा कोविड-19 के समय में संत निरंकारी मिशन द्वारा हजारों जरूरतमंद परिवारों की सेवा की जा रही है। इसके अतिरिक्त वर्तमान समय में समूचे भारतवर्ष में निरंकारी सत्संग भवनो को टीकाकरण कैंप के रूप में प्रदान किया गया है, साथ ही कोरोना महामारी से लोगों को बचाने के लिए संत निरंकारी मिशन की ओर से सतगुरु माता जी के आशीर्वाद एवं दिल्ली सरकार के सहयोग से कोविड-19 सेंटर के रूप में 1000 बेडो के अस्पताल का निर्माण किया गया ।इसके अतिरिक्त अन्य राज्यों में भी वहां की सरकारों के सहयोग से भवनों को अस्पतालों के रूप में निर्मित किया जा रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here