1 मार्च से प्राइवेट अस्पतालों में भी लगेगी कोरोना वैक्सीन, बुजुर्गों को भी लगेगी फ्री टीका, सरकार ने किया फेरबदल

0
276

कोरोना वैक्सीन महामारी से निपटने के लिए देश में वैक्सीनेशन अभियान जारी है. 1 मार्च से बुजुर्गों को वैक्सीन की डोज दी जाएगी. बड़ी बात यह है कि अब निजी अस्पतालों में भी कोरोना वैक्सीन की खुराक दी जा सकेगी. प्राइवेट अस्पतालों में वैक्सीन उन्हीं लोगों को दी जाएगी जो सरकार के नियमों के तहत वैक्सीन पाने के पात्र हैं.दूसरे चरण में वैक्सीन की डोज लेने वालों के एज ग्रुप को लेकर सरकार ने फेरबदल किए हैं. अब 60 साल के ऊपर के उम्र के लोगों को कोरोना का वैक्सीन दी जाएगी. पहले यह 50 साल से अधिक उम्र के लोगों के लिए थी. केंद्र सरकार की तरफ से जारी दिशानिर्देशों के मुताबिक दूसरे चरण में 45 वर्ष से अधिक उम्र के उन्हीं लोगों को वैक्सीन की खुराक दी जाएगी जो पहले से गंभीर बीमारी से पीड़ित हैं. ऐसे लोगों को अपनी परेशानी संबंधी कागजात दिखाने होंगे.
60 साल से अधिक उम्र के लोगों का ही फ्री वैक्सीन ऐप में डाटा फीड किया जाएगा. देश में 60 वर्ष से अधिक लोगों की आबादी, 45-50+ की उम्र के लोगों की तुलना में कम है. अस्पताल में दी जाने वाली वैक्सीन कोवैक्सीन या फिर कोविशील्ड होगी. हालांकि अभी यह स्पष्ट नहीं हो पाया है कि कोरोना वैक्सीन लेने वालों के सामने दोनों वैक्सीनों में से किसी एक को चुनने का विकल्प दिया जाएगा या नहीं.बता दें कि बीते बुधवार को केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने ऐलान किया था कि 1 मार्च से बुजुर्गों को भी कोरोना वैक्सीन की डोज दी जाएगी. पहले चरण में फ्रंटलाइन वर्कर्स को कोरोना वैक्सीन दी जा रही है. वहीं दूसरे चरण में बुजुर्गों को वैक्सीन की खुराक दी जाएगी. उधर केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने बताया कि मोदी सरकार की कैबिनेट के सभी मंत्री कोरोना वैक्सीन का दाम चुकाने के बाद ही वैक्सीन लगावाएंगे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here