23 दिसंबंर तक बडोनी की प्रतिमा नहीं लगी तो 24 को उनकी जयंती पर धरना देंगे।

0
30

रिपोर्टर सुमित कंसल मसूरी

23 दिसंबंर तक बडोनी की प्रतिमा नहीं लगी तो 24 को उनकी जयंती पर धरना देंगे।

मसूरी। इन्द्रमणी बडोनी स्मृति मंच ने उपजिलाधिकारी मसूरी को ज्ञापन देकर मांग की है कि इंद्रमणि बडोनी चौक रियाल्टो पर उनकी प्रतिमा 23 दिसंबर तक स्थापित नहीं की गई तो 24 दिसंबंर से उनकी जयंती पर धरना दिया जायेगा।
इंद्रमणि बडोनी स्मृति मंच ने नाराजगी व्यक्त की है कि बडोनी चौक से राज्य निर्माण के पुरोधा और पर्वतीय गॉधी इन्द्रमणी बडोनी की प्रतिमा गायब कर दी गई है।

ज्ञापन में कहा गया है कि प्रतिमा 23 दिसम्बर तक स्थापित न होने पर बडोनी चौक पर उनकी जयंती 24 दिसम्बर को धरना दिया जाएगा। ज्ञापन एसडीएम के न होने पर एसडीएम कार्यालय की प्रशासनिक अधिकारी निधि टम्टा को सौंपा गया। ज्ञापन के बारे में जानकारी देते हुए बडोनी स्मृति मंच के महासचिव प्रदीप भंडारी ज्ञापन में कहा गया है कि कुलड़ी स्थित इन्द्रमणी बडोनी चौक से सौन्दर्यीकरण के नाम पर लगभग एक साल पहले उत्तराखण्ड राज्य निर्माण के पुरोधा एवं पर्वतीय गॉधी इन्द्रमणी बडोनी की प्रतिमा को नगर पालिका परिषद मसूरी द्वारा बगैर किसी को बताए वहॉ से हटा दिया गया था। बाद में समिति द्वारा पूछे जाने पर मसूरी नगर पालिका अध्यक्ष अनुज गुप्ता ने कहा था कि प्रतिमा पालिका ने हटायी है

और 1 महीनें में नई प्रतिमा लग जाएगी। मगर अब एक साल होने को है अभी तक उक्त स्थल पर बडोनी की प्रतिमा नहीं लगी। ज्ञापन में कहा गया है कि लोगों द्वारा ऐसी शंका व्यक्त की जा रही है किसी साजिश के तहत यहॉ पर उत्तराखण्ड राज्य निर्माता एवं पर्वतीय गॉधी इन्द्रमणी बडोनी की प्रतिमा को नहीं लगाया जा रहा है। पूर्व में लगी बडोनी की प्रतिमा को भी कहीं गायब कर दिया गया है और नई भी नहीं लगायी नहीं जा रही है। यह पहाड़ के गांधी बडोनी का ही नहीं समूचे उत्तराखण्ड की जनभावनाओं का अपमान है। प्रतिमा न होने के कारण मसूरी वासी गत 18 अगस्त को बडोनी की पूर्ण्य तिथि भी नहीं मना पाए और राज्य स्थापना दिवस आदि अवसरों पर भी लोग वहॉ पर पुष्प इत्यादि भी नहीं चढ़ा पाते हैं। जबकि अब बडोनी के जन्मदिवस 24 दिसम्बर जिसके कि राज्य सरकार द्वारा संस्कृति दिवस के रूप में घोषित किया गया है, उस दिन बिना प्रतिमा कैसे जयंती मनायी जा सकती है। समिति ने उपजिलधिकारी से मांग की है कि नगर पालिका परिषद मसूरी को निर्देश दें कि 23 दिसम्बर तक उक्त स्थल पर बडोनी की प्रतिमा को स्थापित करवाएं। अन्यथा बहुत दुःखी मन से हम तमाम राज्य आन्दोलनकारी, इन्द्रमणी बडोनी विचार मंच व मसूरी वासियों को 24 दिसम्बर इन्द्रमणी बडोनी चौक पर धरने पर बैठने को मजबूर होना पड़ेगा। इस संबंध में नगर पालिकाध्यक्ष अनुज गुप्ता ने कहा कि बडोनी चौक पर सौंदर्यीकरण का कार्य चल रहा है और शीघ्र ही वहां पर बडोनी जी की प्रतिमा लगायी जायेगी। ज्ञापन देने वालों में बिल्लू बाल्मीकि भी शामिल रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here