FeaturedUttarakhand News

चलो !विद्युत नियामक आयोग ने उपभोक्ताओं की पीड़ा तो समझी – मोर्चा

चलो !विद्युत नियामक आयोग ने उपभोक्ताओं की पीड़ा तो समझी – मोर्चा। विद्युत कटौती एवं मूल्य वृद्धि मामले में ऊर्जा निगमों का जवाब तलब किया जाना जनता पर बहुत बड़ा एहसान! अब तक आयोग को नहीं थी उपभोक्ताओं की सुध ! आयोग की लापरवाही से उपभोक्ताओं का निकला दम। विकासनगर -जन संघर्ष मोर्चा अध्यक्ष एवं जीएमवीएन के पूर्व उपाध्यक्ष रघुनाथ सिंह नेगी ने कहा कि विद्युत नियामक आयोग ने ऊर्जा निगमों का विद्युत कटौती एवं महंगी बिजली के मामले में जवाब तलब किया है, जोकि एक तरह से जनता पर बहुत बड़ा एहसान है, क्योंकि अब तक नियामक आयोग बेसुध था । चलो ! देर आए, दुरुस्त आए ! विद्युत कटौती एवं बिजली महंगी होने की वजह से विद्युत उपभोक्ताओं का जीना दुभर हो गया है तथा विद्युत पर निर्भर कारोबार भी बहुत प्रभावित हुए हैं। नेगी ने कहा कि बहुत मुद्दत के बाद नियामक आयोग का विद्युत उपभोक्ताओं की पीड़ा पर ध्यान आकर्षित करना एक तरह से अचंभित करने वाला कार्य है ‌ काश! नियामक आयोग जनता की पीड़ा की और पहले से ही ध्यान देता तो यह नौबत नहीं आती |मोर्चा लगातार बिजली के दामों में बढ़ोतरी एवं लाइन लॉस कम करने को लेकर पूर्व में भी नियामक आयोग की लापरवाही पर खबरदार करता रहा है । नेगी ने तंज करते कसते हुए कहा कि जनता अब तक सिर्फ यह समझती थी कि नियामक आयोग सिर्फ दामों में वृद्धि ही कर सकता है ! नेगी ने कहा कि यूपीसीएल आदि की लापरवाही एवं कमीशनखोरी की वजह से महंगे दामों पर बिजली खरीदनी पड़ती है एवं बिजली कटौती की मार झेलनी पड़ती है । मोर्चा नियामक आयोग की ऊर्जा निगमों पर सख्ती का स्वागत करता है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button