FeaturedUttarakhand News

डॉ. बीकेएस संजय ने रस्किन बॉन्ड को अपना काव्य-संग्रह भेंट किया |

डॉ. बीकेएस संजय ने रस्किन बॉन्ड को अपना काव्य-संग्रह भेंट किया |

मसूरी। पदमश्री डा. बीकेएस संजय ने अंग्रेजी के ख्याति प्राप्त लेखक पदम भूषण रस्किन बॉन्ड को उनके आवास पर जाकर अपना काव्य संग्रह भेंट किया। साथ ही डा. सुजाता संजय ने भी अपनी महिला स्वास्थ्य से संबंधित पुस्तक महिला दर्पण भेंट की।

इस मौके पर लेखक रस्किन बॉड ने भी अपनी बहु चर्चित पुस्तक द गोल्डन ईअर्स भेंट की।
देहरादून के ख्याति प्राप्त ऑर्थोपीडिक सर्जन पदमश्री डा. बीकेएस संजय सपरिवार मसूरी व रस्किन बॉड के घर गये। इस मौके पर डा. संजय ने गुलदस्ता देकर रस्किन बॉड का स्वागत किया। इस दौरान उन्होंने रस्किन की पुस्तकों पर चर्चा की व उनके स्वास्थ्य की जानकारी ली। इस मौके पर डा. संजय ने अपना पहला काव्य संग्रह उपहार संदेश का, लेखक रस्किन बॉड को भेंट किया। इस काव्य संग्रह का लोकार्पण प्रदेश के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने किया था व उसके बाद उन्होंने भारत के पूर्व उपराष्ट्रपति वैकेंया नायडू व राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू को भी भेंट की। डा. संजय ने बताया कि उनका यह पहला काव्य संग्रह भारतीय ज्ञानपीठ और वाणी प्रकाशन से प्रकाशित किया गया है। जिसकी पूर्व में भी कई बार इस पुस्तक की परिचर्चा की जा चुकी है। डा. बीकेएस संजय देहरादून के जाने माने ऑर्थोपीडिक सर्जन है, जिनके नाम चिकित्सीय व सामाजिक क्षेत्र में योगदान के लिए कई उपलब्धियां हैं, जिसमें गिनीज वर्ल्ड बुक, लिम्का बुक, इंडिया और इंटरनेशनल बुक ऑफ रिकार्डस आदि प्रमुख हैं। डॉ. संजय बहुआयामी व्यक्तित्व के धनी हैं जो न केवल अपने शल्य चिकित्सीय कार्य के लिए ही नहीं बल्कि लेखन कार्य के लिए भी जाने जाते हैं। डॉ. संजय को उत्कृष्ट चिकित्सीय सेवाओं के लिए भारत सरकार ने 2021 में पदमश्री से सम्मानित किया है। इस मौके पर डॉ. संजय के साथ ही पत्नी भावना संजय, पुत्र डा. प्रतीक संजय, बड़ी बहू स्त्री एवं प्रसूति रोग विशेषज्ञ डॉ. सुजाता संजय, व पुत्रियां नन्दिता एवं नशिता मौजूद रहे। इस मौके पर रस्किन बॉन्ड ने नन्दिता और नशिता को अपने हस्ताक्षर कर अपनी पुस्तकें भेंट की।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button