FeaturedUttarakhand News

निरंकारी मिशन की अधिग्रहित भूमि वापस दिलाने मोर्चा ने दी मुख्यमंत्री दरबार में दस्तक 

निरंकारी मिशन की अधिग्रहित भूमि वापस दिलाने मोर्चा ने दी मुख्यमंत्री दरबार में दस्तक                         गोल्ड मेडलिस्ट कांस्टेबल तजेंद्र सिंह को आउट ऑफ़ टर्न प्रमोशन की उठाई मांग । वर्ल्ड पुलिस एवं फायर गेम्स में जीता था गोल्ड मेडल। देहरादून- जन संघर्ष मोर्चा अध्यक्ष एवं जीएमवीएन के पूर्व उपाध्यक्ष रघुनाथ सिंह नेगी की अगुवाई में प्रतिनिधिमंडल ने मा. मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी से भेंट कर वर्ष 2001-2002 में संत निरंकारी मिशन की आईएसबीटी निर्माण हेतु एमडीडीए द्वारा अधिग्रहित भूमि (जिसका आज तक मुआवजा नहीं लिया गया) के बदले अन्यत्र भूमि

दिलाने एवं शेरगढ़, डोईवाला निवासी कांस्टेबल ना.पु.53 श्री तजेंद्र सिंह, जिन्होंने यूएसए में आयोजित वर्ल्ड पुलिस एवं फायर गेम्स बॉडी बिल्डिंग प्रतियोगिता वर्ष 2017 में गोल्ड मेडल जीतकर देश का नाम रोशन किया था तथा वर्ष 2013 में भी लंदन में आयोजित प्रतियोगिता में गोल्ड मेडल जीता था, को आउट ऑफ टर्न प्रमोशन दिलाने का आग्रह किया गया, जिस पर मा.मुख्यमंत्री ने दोनों मामलों में कार्रवाई के निर्देश दिए । नेगी ने कहा कि आउट ऑफ टर्न प्रमोशन को लेकर उनके परिजनों द्वारा कई वर्षों से लड़ाई लड़ी गई, लेकिन नियमावली में प्रावधान न होने के चलते लाभ नहीं मिल सका, लेकिन नियमावली के नियम 19 में शिथिलता का प्रावधान है, जिसके चलते बिना पारी के प्रमोशन दिया जा सकता है , उक्त बिंदु मा. मुख्यमंत्री के समक्ष रखा गया। नेगी ने कहा कि संत निरंकारी मिशन, जोकि मानव कल्याण एवं सामाजिक कार्यों के लिए जाना जाता है, भूमि वापस मिलने से मानव कल्याण के कार्यों यथा ब्लड डोनेशन कैंप/ आपदा राहत शिविर व अन्य सामाजिक कार्यों में और तेजी आएगी । प्रतिनिधिमंडल में – संत निरंकारी मंडल, मसूरी के जोनल इंचार्ज श्री हरभजन सिंह, विकासनगर मुखी श्री नरेंद्र राठौर,हरिकिशन सिंह (गोल्ड मेडलिस्ट के पिता) एवं भाजपा नेता राजेंद्र सिंह मौजूद थे |

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button