नये साल के जश्न पर पुलिस व्यवस्था की पोल खुली।

0
60

नये साल के जश्न पर पुलिस व्यवस्था की पोल खुली।

मसूरी। पर्यटन नगरी मसरूी में नये साल का जश्न मनाने आये लोगों ने मध्यरात्रि तक मालरोड पर एक दूसरों को बधाई दी वहीं पुलिस व्यवस्था चरमराती नजर आयी व कहीं भी कोरोना गाइड लाइन का पालन नहीं हो पाया न हीं कोरोना कफर्यू का असर नजर आया। वहीं मालरोड सहित अन्य मार्गों पर जाम भी लगता रहा।
पर्यटन नगरी मसूरी में मध्यरात्रि तक नये साल का जमकर जश्न मनाया गया। लेकिन पुलिस प्रशासन की व्यवस्था व कोरोना गाइड लाइन की जमकर धज्जियां उड़ती नजर आयी। व लोग बारह बजे तक मालरोड पर घूमते नजर आये तथा जगह जगह नाच कर नये साल की बधाइंया देते रहे।

हालांकि कई स्थानों पर पुलिस ने लोगों को खदेड़ा लेकिन उसके बाद भी पर्यटक मालरोड पर बिना कोरोना गाइड लाइन का पालन करते सड़कों पर नजर आये। वहीं होटलों में मध्यरात्रि तक कार्यक्रम चलते रहे।

देश व प्रदेश में लगातार बढ़ते कोरोना वायरस व ओमीक्रोन के कारण सरकार ने रात्रि 11 बजे से सुबह 5 बजे तक कोरोना कफर्यू लगाया है लेकिन उसके बाद भी लोग नहीं माने वहीं न किसी ने मास्क पहन रखा था न ही सोशल डिस्टेंस का पालन किया गया था जिसने पुलिस व्यवस्था की पोल खोल कर रख दी। वहीं नया साल मनाने आये पर्यटक प्रभात बिष्ट ने कहा कि मसूरी का नाम विश्व विख्यात है और कोरोना के बाद इस बार बाजार में रौनक नजर आयी व लोगों ने नये साल का पूरा आनंद परिवारों के साथ लिया।

यहां पर पर्यटक रात्रि को होटलों से बाहर नहीं आये व कोरोना गाइड लाइन का पालन किया। किच्छा से आये पर्यटक सलीम अहमद ने कहा कि उन्होंने नये साल को बहुत ही अच्छे तरीके से परिवार के साथ मनाया व कोरोना गाइड लाइन का पूरा पालन किया। उन्होंने कहा कि मसूरी में नये साल का जश्न मनाना अपने आप में आनंद दायक रहा। मालरोड पर टहलते हुए वाहनों के बड़ी संख्या में आने से पर्यटकों को परेशानियों का भी सामना करना पड़ा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here