FeaturedUttarakhand News

जमीन के फर्जी कागजात तैयार कर 4.50 करोड़ की धोखाधड़ी करने वाले गिरोह का वांछित अभियुक्त मेरठ से गिरफ्तार

 थाना क्लेमेंटाउन, देहरादून, दिनांक- 20-07-2023

जमीन के फर्जी कागजात तैयार कर 4.50 करोड़ की धोखाधड़ी करने वाले गिरोह का वांछित अभियुक्त मेरठ से गिरफ्तार

घटना का विवरणः- दिनांक 17 मई 2023 को वादी मुकदमा श्री अशोक अग्रवाल निवासी लक्ष्मण झूला जिला पौड़ी गढ़वाल द्वारा थाना क्लेमेंनटाउन पर लिखित तहरीर दी की उनके परिचित  विजय कुमार गुप्ता एवं राधावल्लभ गुप्ता को भटनागर एवं वर्मा ने क्लेमनटाउन में मुख्य सहारनपुर रोड पर एक जमीन दिखाई और बताया कि उक्त जमीन बिक्री के लिए है और काफी फायदे का सौदा है। इन दोनों व्यक्तियों ने यह भी बताया कि उक्त जमीन डील / विक्रय हम करा देगे इसलिए जमीन की डील 11.50 करोड़ में तय की तथा दिनांकः- 01 दिसंबर 2022 को ₹25 लाख बयाने के रूप में समीर कामयाब के खाते में ट्रांसफर किए गए और ₹ 5 लाख रोहित पांडे को नगद दिए गए क्योंकि रोहित पांडे द्वारा बताया गया था कि उक्त संपत्ति फातिमा बेगम के नाम है और समीर कामयाब फातिमा का बेटा है, डील तय होने के बाद समीर कामयाब व अन्य लोगो ने हमें जमीन दिखाने ले गए, वहाँ जमीन का मुआयना कराते समय उन्होने जमीन की रजिस्ट्री के लिए फोटो खिंचवाई, जिसके बाद वह सभी लोग हमें वकील सहगल के पास उनके चेंबर में ले गए। वकील साहब द्वारा हमें जमीन से संबंधित सभी कागज दिखाएं और बताया कि कागज सब सही है, आप जमीन खरीद लो, फिर हमने इन सभी लोगों पर विश्वास करके दिनांक 14 फरवरी 2023 को रजिस्ट्री टाइप करवाई और दिनांक 15 फरवरी को समीर कामयाब द्वारा हमारे नाम रजिस्ट्री कराई गई और हमारे द्वारा समीर कामयाब के खाते में कुल 2 करोड़ 40 लाख और 01 करोड़ 85 लाख रुपए विजय सारस्वत जी को व रोहित पांडे जी को नगद दिए गए और बाकी हमारे द्वारा जमीन पर कब्जा होने के बाद देना बताया लेकिन जब जमीन पर कब्जा दिलाने के लिए कहा तो यह सभी लोग इधर-उधर की बातें करने लगे। शक होने पर हमने आसपास के लोगों से जानकारी की गई तो पता चला कि उक्त जमीन पूर्व से विवादित है, जिसमें पहले भी मुकदमे चल रहे हैं तथा जमीन स्व0  डी0के0 मित्तल की है, जब हमने यह बात इन लोगों को बताई तो कहने लगे डी0के0 मित्तल की जमीन इससे 1 किलोमीटर आगे है, आप लोग किसी के बहकावे में ना आए, आपको जमीन पर कब्जा दिला देंगे लेकिन आज तक कब्जा नहीं मिला तो हमें पूर्ण यकीन हो गया कि इन लोगों द्वारा हमारे साथ धोखाधड़ी कर पैसे हड़प लिए हैं क्योंकि उक्त जमीन पर पहले भी मुकदमा चल रहा है तथा जमीन मालिक समीर कामयाब के खिलाफ गैंगस्टर सहित कई अभियोग दर्ज हैं, जिसका काम जमीन के फर्जी कागजात तैयार कर लोगों से पैसा हड़पना है, जिस पर उक्त सभी लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने की कृपा करें । पुलिस उप-महानिरीक्षक/वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक देहरादून महोदय के निर्देशानुसार जनपद में जमीन की खरीद-फरोख्त मे धोखाघडी कर भोले-भाले लोगो से रूपये ठगने वाले भूमाफियाओ को चिन्हित कर उनके विरूद्ध नियमानुसार कार्यवाही करने व भूमि सम्बन्धी धोखाघडी के प्रकरणो पर प्रभावी अंकुश लगाये जाने हेतु वर्तमान मे प्रचलित अभियान के अन्तर्गत प्राप्त निर्देशों के क्रम में तत्काल प्राप्त तहरीर के आधार पर थाना क्लेमेंटाउन पर अपराध संख्या – 53/2023 धारा 420, 467 ,468 ,471, 120 बी IPC बनाम समीर कामयाब , फातिमा आदि अभियुक्तगणो के विरुद्ध पंजीकृत किया गया, विवेचना उपनिरीक्षक अमरीश रावत के द्वारा की जा रही है जिसमें अभियुक्त समीर कामयाब को अभियोग पंजीकृत करने के 12 घंटे के अंदर गिरफ्तार किया गया था तथा बाकी शेष अभियुक्त फरार चल रहे थे और फिर सभी अभियुक्तों द्वारा माननीय जिला एवं सत्र न्यायालय से अग्रिम जमानत प्राप्त की गई थी किंतु माननीय न्यायालय द्वारा प्राप्त दस्तावेजी साक्ष्यों के आधार पर सभी अभियुक्त गणों की अग्रिम जमानत निरस्त कर दी गई और उसके बाद भी अभियुक्त गण लगातार अपनी गिरफ्तारी से बच रहे थे। जिस पर लगातार टीम द्वारा अभियुक्त गणों के बारे में जानकारी की जा रही थी जिसमें से कुछ अभियुक्त गणों द्वारा माननीय उच्च न्यायालय से भी गिरफ्तारी स्थगन आदेश प्राप्त किया गया था लेकिन अभियुक्त रोहित पांडे लगातार गिरफ्तारी से बचकर देहरादून से अपने मूल निवास मेरठ जा चुका था जिसको टीम द्वारा दिनांक 19/07/23 को मेरठ से गिरफ्तार किया गया अभियुक्त रोहित पांडे एक शातिर किस्म का अपराधी है जिसके खिलाफ पूर्व में भी कई अभियोग पंजीकृत है तथा जमीन धोखाधड़ी से संबंधित अभियुक्त के खिलाफ चेक बाउंस के कई मामले जनपद मेरठ में प्रचलित है अभियुक्त रोहित पांडे को आज माननीय न्यायालय के समक्ष पेश किया जा रहा है।

उक्त जमीन थाना क्षेत्र अंतर्गत सहारनपुर रोड से लगी हुई है जो डी0के0 मित्तल निवासी क्लेमेंटाउन देहरादून की है, जिनकी पत्नी स्व0 सुशीला मित्तल की मृत्यु 2021 में कोरोना के कारण हो गई थी, जिनके कोई वारिस ना होने के कारण अभियुक्त गणों द्वारा षड्यंत्र के तहत कूट रचित दस्तावेज तैयार कर धोखाधड़ी की गई है तथा पूर्व में भी उक्त जमीन के अभियुक्त बाबर हुमायूं द्वारा भी फर्जी दानपात्र के माध्यम से कूट रचित दस्तावेज तैयार कर 9 विक्रय पत्र निष्पादित किए गए थे, जिस संबंध में स्व0 डी0के0 मित्तल द्वारा भी वर्ष 2021 में अभियोग पंजीकृत कराया गया था, जिसमें अभियुक्त बाबर हुमायूं को गिरफ्तार किया गया था। उक्त जमीन के सम्बन्ध में कई भू- माफियाओ द्वारा अपना –अपना होना बताया जा रहा है तथा इसके अलावा भी कई भू- माफियाओ द्वारा कब्जा करने की नियत से फर्जी दस्तावेज तैयार करना प्रकाश में आया है, जिसके सम्बन्ध में गहनता से जाँच / विवेचना की जा रही है।

नाम पता गिरफ्तार अभियुक्त :

रोहित पांडे पुत्र रविंद्र कुमार पांडे निवासी कृष्णा होम सोसाइटी फ्लैट नंबर 201 बी ब्लॉक कैनाल रोड थाना राजपुर देहरादून
मूल निवासी – बी 181 पल्लवपुरम फेज 01 कैंट थाना पल्लवपुरम मेरठ उत्तर प्रदेश उम्र 40 वर्ष।

आपराधिक इतिहास :-

1- मु0अ0स0 190/21 धारा 376(D)/354/506/34 भादबि थाना साउथ ईस्ट दिल्ली
2- मु0अ0स0 249/21 धारा 323/498(A)/406/506 IPC थाना जिंद हरियाणा

इसके अतिरिक्त अभियुक्त के खिलाफ जनपद मेरठ में चेक बाउंस 138 एन आई एक्ट के 07 वाद चल रहे हैं जिसमें 02 मामलों में अभियुक्त के खिलाफ गैर जमानती वारंट भी जारी हो रखे है ।

पुलिस टीम :-

1- शिशुपाल राणा ,थानाध्यक्ष क्लेमेंटाउन देहरादून।
2- उ0नि0 अमरीश रावत
3- का0 अजय कुमार
4- का0 प्रदीप खटाना

1- हे0 का0 किरन एसओजी

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button