गौतम गंभीर ने IPL में निराशाजनक प्रदर्शन के बाद बीच में छोड़ी कप्तानी दिल्ली डेयरडेविल्स की

0
769

मनोज कुमार
फरीदाबाद dt 25।04।18
दिल्ली को जिताने वाले ने दिल्ली को बीच मे छोड़ा।

आईपीएल 2018 में निराशाजनक प्रदर्शन के बाद गौतम गंभीर ने दिल्ली डेयरडेविल्स की कप्तानी छोड़ दी है. गंभीर की जगह मुंबई के युवा बल्लेबाज श्रेयस अय्यर को दिल्ली की कप्तानी सौंपी गई है, लेकिन गंभीर टीम का हिस्सा बने रहेंगे.

गौतम गंभीर ने दिल्ली डेयरडेविल्स की कप्तानी छोड़ने पर कहा कि यह मेरा निर्णय था. ‘मैंने टीम के लिए पर्याप्त योगदान नहीं दिया है. कप्तान होने के नाते मुझे जिम्मेदारी लेनी थी. मुझे लगता है कि यह सही समय था.’

गंभीर ने कहा, ‘मैं कप्तानी का दबाव नहीं झेल पा रहा था, इसलिए कप्तानी छोड़ने का फैसला किया. यह मेरा अपना फैसला है. फ्रेंचाइजी का कोई दबाव मुझ पर नहीं है. मैंने अपने इस फैसले के बार में अपनी पत्नी से भी बात की थी.’

गंभीर ने कहा, हो सकता है कि मैं चीजों को बदलने के लिए अधिक बेताब था और इसका उलटा असर पड़ा. यह एक कारण हो सकता है. मैं दबाव नहीं झेल पा रहा था और जब आप ऐसा नहीं कर पाते हैं तो फिर आपको जिम्मेदारी लेनी होती है.’

गंभीर ने कहा , ‘मैंने अकेले में इस पर गहन विचार किया. मैं दबाव नहीं झेल पा रहा हूं. मैं इसके लिए बहुत अच्छी स्थिति में नहीं हूं.’ इस प्रेस कॉन्फ्रेंस में फ्रेंचाइजी के सीईओ हेमंत दुआ और कोच रिकी पोंटिंग भी उपस्थित थे.

टीम के प्रदर्शन को ध्यान में रखते हुए गंभीर ने लिया फैसला

गंभीर ने कहा, ‘अभी अंकतालिका में टीम जहां पर है, एक कप्तान के तौर पर मैं उसकी पूरी जिम्मेदारी लेता हूं. टीम के प्रदर्शन को ध्यान में रखते हुए मैंने कप्तानी छोड़ने का फैसला लिया है. मेरी जगह श्रेयस अय्यर टीम के कप्तान होंगे. फ्रेंचाइजी को भी लगता है कि वह इस पद के लिए सही शख्स हैं. हमें अभी भी लगता है कि हम स्थिति को बदल सकते हैं. हमे अभी भी आठ में से सात मैच जीतने हैं, जो मुमकिन है. हममें इसकी काबिलियत है.’

गंभीर ने कहा, ‘यह पूरी तरह से मेरा फैसला है. मैंने कल डेयरडेविल्स के मुख्य कार्यकारी अधिकारी हेमंत दुआ से बात की थी और इस बात की जानकारी दी थी. मुझे लगता है कि यह फैसला लेने का यह सही समय है, क्योंकि अभी भी हम टूर्नामेंट में बचे हुए हैं.’

दिल्ली को चैंपियन बनाने का किया था दावा

गौतम दो बार कोलकाता नाइट राइडर्स को आईपीएल का खिताब दिला कर लौटे थे, लेकिन वह कोलकाता की सफलता को दिल्ली में जारी नहीं रख सके. बता दें कि इससे पहले गौतम गंभीर ने कहा था कि वह कोलकाता नाइट राइडर्स की तरह दिल्ली डेयरडेविल्स को आईपीएल का खिताब जीता कर संन्यास ले लेंगे.

दिल्ली की एक के बाद एक हार का झटका उनके लिए काफी भारी पड़ा और उन्होंने कप्तानी छोड़ने का फैसला किया. दिल्ली ने गंभीर की कप्तानी में छह मैच खेले जिसमें से पांच में उसे हार मिली.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here