रुद्रप्रयाग केदारनाथ धाम के कपाट बंद इस अवसर पर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत आदि मंत्री गण उपस्थित रहे

0
233

रुद्रप्रयाग: भाई दूज के अवसर पर भारी बर्फबारी के बीच विश्व प्रसिद्ध ग्यारहवें ज्योर्तिलिंग श्री केदारनाथ (Kedarnath) धाम के कपाट आज बंद हो गए (Portal Closed) । कपाट बंद होने के अवसर पर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) व उत्तराखंड सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत शामिल रहे। दोनों ने बर्फबारी में ही ही धाम से प्रस्थान किया। बर्फबारी के बीच श्री केदारनाथ की पंचमुखी विग्रह डोली उखीमठ के लिए चल दी।सोमवार को खराब मौसम के बावजूद केदारनाथ धाम के कपाट बंद होने की प्रक्रिया तड़के 3 बजे से शुरू हो गई थी। इस दौरान भक्तगण भगवान शिव के जयकारे लगाते रहे।

इस अवसर पर उप्र के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत, शहरी विकास मंत्री श्री मदन कौशिक, उच्च शिक्षा राज्य मंत्री डॉ. धन सिंह रावत, आदि मौजूद थे। भारी बर्फबारी के बीच ही सीएम योगी व सीएम त्रिवेंद्र समेत अन्य लोगों ने धाम से प्रस्थान किया। इसी दौरान सेना के बैंड की धुन के साथ भगवान केदार की पंचमुखी विग्रह डोली भी आगे आगे आज के पड़ाव रामपुर के लिए चल दी।

इस वर्ष यात्रा पर कोरोना का साया इस यात्रा वर्ष में कोरोना संकट के कारण चारधाम आने वाले श्रद्धालुओं की संख्या काफी कम रही। सितंबर माह से सभी भक्तों के लिए धाम में प्रवेश की अनुमति के साथ यहाँ भीड़ बढ़ी, लेकिन पिछ्ले वर्षों के मुकाबले बहुत कम लोग आए। इस वर्ष कुल 135023 श्रद्धालुओं ने भगवान केदारनाथ के दर्शन किये।यमुनोत्री के कपाट बंद उधर सोमवार को श्री यमुनोत्री धाम के कपाट भी 12 बजकर 15 मिनट परशीतकाल के लिए बंद कर दिए गए। गंगोत्री धाम के कपाट रविवार को बंद हुए जबकि श्री बदरीनाथ धाम के कपाट 19 नवंबर को शायं 3 बजकर 35 मिनट पर बंद होंगे। इस तरह इस वर्ष चारधाम यात्रा का समापन हो जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here