गला रेत कर की गई महिला की हत्या पुलिस ने गुथी सुलझाई बड़ी कामयाबी पुलिस की

0
711

पुलिस के द्वारा हिंदी मैगजीन के मीडिया प्रभारी नरेंद्र कुमार राठौर देहरादून उत्तराखंड

थाना राजपुर*

दिनांक 03/11/18 को थाना राजपुर को सूचना मिली की पनाष वैली, आईटी पार्क क्षेत्र में किसी महिला की गला रेत कर हत्या कर दी गई है। जिस पर तत्काल घटना की गंभीरता से लेते हुए क्षेत्राधिकारी मसूरी महोदय तथा थानाध्यक्ष राजपुर मय पुलिस बल के मौके पर पहुंचे। मौके पर तत्काल फील्ड यूनिट की टीम बुलाई गई। घटनास्थल पर आसपास के लोगों से पूछताछ की गई तथा मृतिका के पति रामेश्वर केवट पुत्र श्री दसवा निवासी मोहल्ला माध्वगंज जिला पन्ना, मध्य प्रदेश से विस्तृत पूछताछ की गई, जिसने बताया कि मैं सुबह के समय शौच के लिए जा रहा था, तभी मुझे हरेंद्र उर्फ महेंद्र मिला, जिसने मुझसे बीड़ी माँगकर पी, उसके बाद मैं शौच के लिए चला गया। जब मैं वापस आ रहा था तब मेरे बराबर वाली झुग्गी में रहने वाले हरेंद्र उर्फ महेंद्र, छोटेलाल, सुनील व एक बाल अपचारी भाग रहे थे तब मैंने अपनी झुग्गी में देखा तो मेरी पत्नी का शव खून में लथपथ अवस्था में पड़ा हुआ था। उक्त संबंध में वादी श्री रामेश्वर केवट उपरोक्त द्वारा दी गई तहरीर के आधार पर मुकदमा अपराध संख्या 130/18 धारा 302/ 120 बी भादवि का अभियोग पंजीकृत किया गया।
उक्त गंभीर घटना को दृष्टिगत रखते हुए श्रीमान वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक देहरादून के दिशा निर्देशन में व श्रीमान पुलिस अधीक्षक नगर तथा क्षेत्रधिकारी महोदय के पर्यवेक्षण में टीम गठित की गई तथा घटना के अनावरण हेतु एस0ओ0जी0 टीम को भी साथ लिया गया। टीम द्वारा तत्काल कार्यवाही करते हुए व ठोस पतारसी सुरागरसी करते हुए मुकदमा उपरोक्त से संबंधित हरेंद्र उर्फ महेंद्र, सुनील, छोटे लाल व बाल अपचारी को रेलवे लाइन, माता मंदिर फाटक के पास से 50 -60 मीटर की दूरी पर समय 23:40 बजे गिरफ्तार किया गया। अभियुक्तों की निशानदेही पर खूनालूदा आला कत्ल एक अदद चाकू व घटना के दौरान अभियुक्त हरेंद्र उर्फ महेंद्र के खून लगे कपड़े बरामद किये गए।
घटना के शीघ्र अनावरण व गिरफ्तारी की जनता व उच्च अधिकारी गणों द्वारा पुलिस टीम की भूरी भूरी प्रशंसा की गई।

*नाम पता अभियुक्त :-*

1- नरेंद्र उर्फ महेंद्र पुत्र प्रभु राम निवासी हरेयाईडी थाना नोहटा जिला रोहतास बिहार।
2- सुनील पुत्र हरकेश निवासी उपरोक्त।
3- छोटेलाल पुत्र सोमनाथ निवासी उपरोक्त।
4- एक बाल अपचारी

*बरामदगी :-*

1- खूनालूदा आलाकत्ल एक अदद चाकू।
2- हरेंद् उर्फ महेंद्र द्वारा घटना के दौरान पहने नीली जींस और टीशर्ट खूब लगे हुए।

*पूछताछ का विवरण :-*

अभियुक्तगणों द्वारा पूछताछ में बताया कि हम लोग बहुत गरीब परिवार से हैं और बिहार में गांव के रहने वाले हैं। हम करीब दो- ढाई महीने पहले मजदूरी करने के लिए पनाष वैली में आए थे। हमारे बराबर में रामेश्वर केवट अपनी पत्नी केसर के साथ रहता है। हमें यह मालूम था कि रामेश्वर के पास काफी रुपए हैं और वह आज दीपावली त्यौहार के लिए गांव जाने वाला था। 2 दिन पहले वह अपने हिसाब के बारे में मुंशी से बात कर रहा था कि मेरा पूरा हिसाब कर देना और मैं रुपए लेकर गांव चला जाऊंगा। तब हमें लालच आ गया और हम लोगों ने योजना बनाई कि 3 तारीख को जब सुबह रामेश्वर केवट शौच के लिए जाएगा तो उसकी झुग्गी में घुसकर रुपए निकाल कर भाग जाएंगे। तब बाजार से सुनील व बाल अपचारी चाकू खरीद कर लाए। प्लान के मुताबिक सुबह के समय हम जागे हुए थे, रामेश्वर केवट सुबह के समय जब शौच के लिए जा रहा था तो महेंद्र उर्फ हरेंद्र ने उससे बीड़ी मागी और हमें यकीन हो गया कि वह शौच के लिए जा रहा है और काफी देर में आएग। उसके जाते ही हम चारों उसकी झुग्गी में घुस गए, वहाँ पर उसकी पत्नी केसर सो रही थी। जब हम झुग्गी में रुपए ढूंढ रहे थे तो उसकी पत्नी जाग गई और शोर मचाने लगी। तब हमने उसे चुप कराने का प्रयास किया और उसका मुंह दबाया, किंतु वह नहीं मानी तब हम डर गए और छोटे लाल, सुनील व बाल अपचारी ने उसका हाथ व मुंह पकड़ लिया और हरेंद्र उर्फ महेंद्र ने उसके गले पर चाकू मार दिया और हम सब वहां से भाग गए।

*गिरफ्तार करने वाली टीम :-*

1- क्षेत्राधिकारी मसूरी, श्री बी0एस0 चौहान
2- श्री अरविंद कुमार, थानाध्यक्ष राजपुर
3- उपनिरीक्षक सुनील कुमार, चौकी प्रभारी आईटी पार्क
4- कांस्टेबल अमित भट्ट
5- कांस्टेबल संजीत
6- कांस्टेबल राकेश डिमरी
7- कांस्टेबल राजकुमार
8- कांस्टेबल साहब सिंह
9- कांस्टेबल अरुण
10- कांस्टेबल चालक मनोज राणा

*एसओजी टीम :-*

1- श्री ऐश्वर्य पाल, प्रभारी निरीक्षक एसओजी
2- उप निरीक्षक विजय सिंह
3- कांस्टेबल अमित
4- कांस्टेबल पंकज
5- कांस्टेबल विपिन
6- कांस्टेबल आशीष
7- कांस्टेबल ललित

*फॉरेंसिक टीम फील्ड यूनिट:-*

1- डॉक्टर संदीप कुमार शर्मा
2- कांस्टेबल अरविंद

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here