गोली मारकर की गई हत्या पुलिस ने किया अभियुक्तों को गिरफ्तार

0
695

पुलिस के द्वारा हिंदी मैगजीन के मीडिया प्रभारी नरेंद्र कुमार राठौर देहरादून उत्तराखंड

*थाना राजपुर, देहरादून*

दिनांक 07/05/19 को थाना राजपुर पर वादी कार्तिक पुत्र राकेश गुप्ता नि0 252 संजय मार्ग, पटेलनगर मुजफ्फरनगर, उ0प्र0 द्वारा दी गयी तहरीर के आधार पर उसके पिता राकेश गुप्ता की महिला मित्र समरजहाँ, जो कि पैसिफिक गोल्फ स्टेट सहस्त्रधारा के पास एक फ्लैट में किराये पर रहती है, को दिनांक 07.05.2019 को समय करीब 08.45 बजे रात्रि में कार सवार अज्ञात व्यक्तियों द्वारा गोली मार दी गयी, जिसकी दौराने उपचार मैक्स अस्पताल में मृत्यू हो गयी। जिस पर थाना राजपुर पर मु0अ0सं0 72/19 धारा 302 भादवि बनाम अज्ञात पंजीकृत किया गया।
सूचना पर पुलिस के उच्चाधिकारी गण, थाना राजपुर पुलिस, एसओजी टीम, फील्ड यूनिट घटना स्थल सहस्त्रधारा रोड पैसेफिक गोल्फ स्टेट पर पहुँची। पुलिस द्वारा घटनास्थल को सुरक्षित करते हुये, फील्ड यूनिट द्वारा घटना स्थल से चले खोखा राउण्ड, खून आलूदा पत्ते, मिट्टी इत्यादि साक्ष्य एकत्रित किये। घटना स्थल के आस-पास के लोगो से गहनता से पूछताछ की तो लोगों द्वारा बताया गया की एक कार चालक द्वारा मृतका समरजहां पर 05 राउन्ड फायर किये गये, घायल समरजहां को वादी कार्तिक द्वारा अपनी कार से मैक्स अस्पताल ले जाया गया, जहां पर चिकित्सको द्वारा उसे मृत घोषित कर दिया। वादी मुकदमा कार्तिक द्वारा पूछताछ एवं बयानो में बताया कि वह सहसत्रधारा रोड पर कुल्हान में माउंट ग्रिल रेस्टोरेन्ट चलाता है। रेस्टोरेन्ट के पास में ही उसके पिता की महिला मित्र समर जहां को उसके पिता द्वारा एक बुटीक दिलवाया, जिसका काम चल रहा है तथा समरजहां भी उसके साथ रेस्टोरेन्ट में कामकाज देखती थी व पास में ही पैसफिक गोल्फ स्टेट से कुछ दूरी पर अन्दर गली में फ्लैट पर किराये में रहती थी। विवेचनात्मक कार्यवाही के क्रम में वादी के पिता राकेश गुप्ता से पूछताछ में उसके द्वारा बताया गया कि मृतका समर जहां को वह काफी सालों से जानता है, मृतका मुजफ्फरनगर में उसके घर के पास ही रहती थी व मृतका का उसकी दुकान पर आना जाना था, जिस कारण दोनो में दोस्ती हो गयी। इस बात की जानकारी राकेश गुप्ता के परिवार को भी हुयी। राकेश गुप्ता की पत्नी सीमा द्वारा पूछताछ में बताया कि उसके पति के समर जहां से सम्बन्ध थे, जिसकी जानकारी उसे लगभग एक साल पहले पता चली थी। तीनो के द्वारा ही पूछताछ में मृतका की हत्या के सम्बन्ध में किसी पर भी शक ना होना एवं कोई जानकारी ना होना बताया गया।
घटना के अनावरण हेतु मुखबिर मामूर किये गये एवं राजपुर पुलिस, एसओजी की अलग- अलग टीमें बनाकर घटनास्थल के आसपास के सीसीटीवी कैमरो की फुटेज चैक की गयी। सर्विलांस व सुरागरसी पतारसी की गयी तो मुखबिर द्वारा बताया गया की घटना में मुजफ्फरनगर के किसी गैंग का हाथ होने की सम्भावना है। इस पर अलग अलग पुलिस टीमें मुजफ्फरनगर क्षेत्र में रवाना की गयी, जिस क्रम मे दिनांक 09/05/19 को थाना राजपुर एवं एसओजी की संयुक्त टीम द्वारा देवबन्द में मुखबिर की सूचना पर घटना में शामिल एक अभियुक्त मोमीन को गिरफ्तार किया गया। अभियुक्त मोमीन से पूछताछ की गयी तो उसने बताया कि वह एक अपराधी के लिये काम करता है। कार्तिक पुत्र राकेश (वादी मुकदमा) से उसी के द्वारा उसे मिलवाया गया था, कार्तिक द्वारा बताया गया था कि उसके पिता के समर जहां नाम की महिला से अवैध सम्बन्ध है, जिस कारण उसके घर में अकसर झगडा होता रहता है व उसकी माँ काफी परेशान रहती है। कार्तिक द्वारा मोमीन व उसके अन्य साथी को समरजहां की हत्या करने के लिये चार लाख रुपये देने का वादा किया, जिसमे से दो लाख रुपये दिनांक 29.04.19 को कार्तिक द्वारा उसे सहस्त्रधारा रोड पर अपने रेस्टोरेन्ट के पास दिये गये। कार्तिक द्वारा मृतका समरजहां व उसके फ्लैट को भी उसी दिन दिखाया गया। दिनांक 06.05.19 को समरजहां के फ्लैट की रैकी की व हमने दिनांक 07.05.19 को उसकी हत्या की योजना बनायी। दिनांक 07.05.19 को रात में नौ बजे के लगभग मारुती सियाज कार UK17-9786 पर अकेले आकर समरजहां की गोली मारकर हत्या कर दी। इसी कार से हमने पहले यहां की रैकी की थी, उक्त अपराधी ने समरजहां की हत्या करने के बाद मुझे वटसअप पर काल कर बताया व अंडरग्राउंड होने को कहा।
अभियुक्त मोमीन के बयानो के आधार पर वादी कार्तिक से सख्ती से पूछताछ की गयी तो कार्तिक द्वारा अपना जुर्म कबूलते हुये बयान किया कि उसके पिता के समर जहां से अवैध सम्बन्ध थे, जिस कारण उसकी मा और पिता में अकसर झगडे होते रहते थे, उसके पिता द्वारा समर जहां पर काफी खर्चा किया जाता था। समरजहां अब उसके पिता पर शादी करने व प्रापर्टी मे आधा हिस्सा देने का दबाव बना रही थी, जिससे उसके पिता राकेश भी तंग हो गया था। इस पर उसने अपनी मा व पिता के कहने पर समरजहां को अपने रास्ते से हटाने की योजना बनायी व हत्या की सुपारी में एडवांस में दो लाख रुपया दिया गया जो कार्तिक को उसके पिता राकेश द्वारा ही दिया गया था, तत्पश्चात राकेश एवं उसकी पत्नी सीमा सिंघल से कडाई से पूछताछ की गयी तो उनके द्वारा बताया गया कि राकेश गुप्ता के समरजहां से 6-7 सालों से अवैध सम्बन्ध थे। समर जहां की शादी भी राकेश गुप्ता द्वारा दबाव देकर तुडवा दी थी, अब समरजहां राकेश गुप्ता पर शादी करने व प्रापर्टी में हिस्सा देने का दबाव बना रही थी, जिस कारण दोनो पति पत्नी में आपस में झगडा होता था व आम समाज में बदनामी हो रही थी। इस कारण यह लोग समरजहां से किसी तरह पीछा छुडाना चाहते थे जिस कारण उनके द्वारा अपने बेटे कार्तिक को दो लाख रुपये देकर समरजहां की हत्या की योजना बनाकर सुपारी देकर उसकी हत्या करवा दी गयी। अभियोग में धारा 120 बी भादवि की बढोत्तरी की गयी एवं गिरफ्तारशुदा अभियुक्तगण कार्तिक, राकेश, सीमा को गिरफ्तार किया गया, जिन्हे मा0 न्यायालय में पेश किया जा रहा है। अभियुक्त कार्तिक के मुजफ्फरनगर के अपराधियों से सम्बन्ध की भी जांच की जा रही है। उक्त अभियोग का खुलासा वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक महोदया, पुलिस अधीक्षक नगर एवं क्षेत्राधिकारी मसूरी महोदय के निर्देशन में किया गया।

*नाम पता अभियुक्त गण :-*

01- राकेश गुप्ता पुत्र श्रीपाल निवासी 252 संजय मार्ग, थाना नई मंडी जिला मुजफ्फरनगर, उ0प्र0 उम्र 44 वर्ष।
02- सीमा सिंघल पत्नी राकेश गुप्ता निवासी उपरोक्त, 42 वर्ष
03- कार्तिक पुत्र राकेश गुप्ता निवासी उपरोक्त, 23 वर्ष
04- मोमीन पुत्र अयूब मलिक निवासी चन्दैना खोली, थाना देवबन्द सहारनपुर, उम्र 21 वर्ष।

*पुलिस टीम :-*

01- थानाध्यक्ष श्री दिलबर सिंह नेगी थाना नेहरु कालोनी
02- उ0नि0 श्री उमेश कुमार, चौकी प्रभारी जाखन
03- उ0नि0 श्री आशीष रावत, चौकी प्रभारी आई0टी0पार्क
04- उ0नि0 श्री ज्योती प्रसाद उनियाल
05- का0 अमित भट्ट,
06- का0 अरुण
07- का0 रोबिन
08- का0 कुंवर
09- का0 चमन(पटेलनगर)

*एस0ओ0जी0 टीम*

01- निरीक्षक श्री एश्वर्य पाल
02- उ0नि0 यादवेन्द्र बाजवा
03- का0 आशीष
04-का0 प्रमोद
05- का0 अमित
06- का0 अजय
07- का0 ललित
08- का0 पंकज
09- का0 देवेन्द्र, का0 विपिन

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here