देहरादून 14 से 20 अप्रैल तक मनाया जाएगा अग्निशमन सेवा, मुम्बई के बंदरगाह खडे इंग्लैंड के फोर्ट स्टरीकेंन नामक जहाज में आग लगने से आग भुजाते वक्त 66 फायर सर्विस कर्मी हुए थे शहीद।

0
39

14 से 20 अप्रैल तक मनाया जाएगा अग्निशमन सेवा सप्तह।
देहरादून,आज 14 अप्रैल के दिन वर्ष 1944 में मुम्बई के बन्दरगाह पर खडें इग्लैण्ड के फोर्ट स्ट्रिकेन नामक 9 हजार टन वाले जहाज में भीषण अग्नि दुर्घटना घटित हुई थी। इस अग्निकाण्ड के दौरान हुए विस्फोट में अग्निशमन कार्य करते हुऐ 66 फायर सर्विस कर्मी शहीद हो गये थे।उन शहीद हुए फायरमैनों तथा उसके उपरान्त अपने कर्तव्यों का पालन करते हुऐ दिवगंत फायर सर्विस अधिकारियों-कर्मचारियों की स्मृति में प्रति वर्ष 14 अप्रैल को समस्त राष्ट्र की अग्निशमन सेवायें ‘‘अग्निशमन सेवा दिवस‘‘ मनाती हैं। साथ ही इनकी सेवा भावना के अनुरूप कार्य करने का संकल्प लिया जाता है।मुख्य फायर स्टेशन गांधी रोड देहरादून पर आज अग्निशमन सेवा दिवस मनाया गया। जिसमें डा0 योगेन्द्र सिंह रावत, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक देहरादून,सरिता डोबाल पुलिस अधीक्षक नगर,एस0के0 राणा,

उपनिदेशक(तकनीकी),शेखर चन्द सुयाल क्षेत्राधिकारी नगर, मुख्य अग्निशमन अधिकारी देहरादून आर0 एस0 खाती, प्रभारी अग्निशमन अधिकारी देहरादून सुरेश चन्द उपस्थित थे। कार्यक्रम के उपस्थित अधिकारी/कर्मचारियों द्वारा शहीद अग्निशमन कर्मियों को श्रृद्धांजलि अर्पित की गई। तत्पष्चात वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक देहरादून महोदय द्वारा अग्निशमन वाहनों को झंडी दिखाकर अग्निशमन सेवा सप्ताह के प्रचार-प्रसार हेतु रवाना किया।जनपद देहरादून में कुल छः फायर स्टेशन तथा एक फायर यूनिट स्थापित है, जो निम्न प्रकार है।मुख्य फायर स्टेशन,गांधी रोड देहरादून,उप केन्द्र वाटर वक्र्स दिलाराम बाजार,फायर स्टेशन ऋशिकेष,फायर स्टेशन मसूरी,फायर स्टेशन विकास नगर,फायर स्टेशन सेलाकुई (औद्योगिक क्षेत्र), फायर स्टेशन डोईवाला (स्थित थाना रानीपोखरी)।
इन सभी फायर स्टेषनों पर वर्ष 2020 में जनपद देहरादून के अन्तर्गत कुल 391 अग्नि दुर्धटनाओं की सूचनायें प्राप्त हुई, जिन पर कार्य करते हुए रू0 3,58,84,523/- की क्षति हुई तथा फायर सर्विस यूनिटों के उत्कृष्ट प्रयासों के फलस्वरूप रू0 27,62,69,855/- की सम्पत्ति को जलने से बचा लिया गया। इन अग्निकाण्डों पर 01 मनुष्य की जलने से मृत्यु हुई तथा 09 मनुष्यों को बचाया गया।
इसी प्रकार कुल 77 जीव रक्षा पुकारें प्राप्त हुई। जिनमें 21 मनुष्यों की मृत्यु हुई है। फायर सर्विस यूनिटों के प्रयासों से 49 मनुष्यों तथा 32 पशुओं को बचाया गया। जनपद से कुल 73 फायर सर्विस कर्मचारियों को एडवांस सर्च एण्ड रेस्क्यू प्रशिक्षण प्रदान कराया गया है।
मुख्य अग्निशमन अधिकारी श्री आर0 एस0 खाती द्वारा अवगत कराया गया कि सप्ताह भर विभिन्न संस्थानों में इसी प्रकार के कार्यक्रम आयोजित किये जायेंगें। उनके द्वारा यह भी बताया गया कि जनपद के फायर स्टेशनों पर अति आधुनिक एंव उच्च तकनीकी वाले संयन्त्र एंव उपकरणों को रखा गया है। जिससे अग्निकाण्डों एवं अन्य प्रकार की आपदा के समय त्वरित बचाव कार्य करने की क्षमता में वृद्धि हुयी है। वर्तमान समय जनपद के फायर स्टेशनों में हाई प्रेसर वाटर टेण्डर, हाइड्रोलिक प्लेटफार्म, हाई प्रेसर फोम टेण्डर, पोर्टेबुल पम्प, डी0सी0पी0 टेण्डर, मिनी वाटर टेण्डर तथा जीव रक्षा वाहनों सहित आपदा प्रबन्धन के उपकरण यथा काम्बी टूल्स, हाइड्रोलिक स्पे्रडर, हाड्रोलिक कटर, डायमण्ड चेन शॉ, एयर कम्प्रेसर मशीन जैसे अन्य उपयोगी उपकरण उपलब्ध है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here