प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ड्रोन अटैक के बाद करीब 2 घंटे तक किया मंथन, अमित शाह- राजनाथ सिंह और डोभाल भी रहे मौजूद

0
121

जम्मू एयर बेस पर ड्रोन हमले को लेकर मंगलवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आवास पर उच्चस्तरीय बैठक हुई. इस बैठक में गृह मंत्री अमित शाह और रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह शामिल हुए. इस मसले पर करीब दो घंटे तक मंथन चला. इस दौरान राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (NSA) अजीत डोभाल भी मौजूद थे.हालांकि अब जिस तरह ड्रोन हमला किया गया है वो आतंकियों द्वारा तकनीक की ओर किए गए बड़े शिफ्ट की ओर इशारा करते हैं. इससे ना सिर्फ उन्हें किसी आत्मघाती हमले के बदले दूसरा ऑप्शन मिला है, बल्कि बार-बार ऐसा करने का रास्ता भी खुला है. क्योंकि अब किसी आत्मघाती दस्ते को भेजने के बजाय आतंकियों को Kamikaze ड्रोन में ही इन्वेस्ट करना होगा.गौरतलब है कि जम्मू में भारतीय वायुसेना के बेस पर हुए ड्रोन हमले और बाद में आसपास के कुछ इलाकों में दिखे ड्रोन से खतरे की घंटी बजती हुई दिख रही है. इस पूरी बेल्ट में सेना के कई बेस, स्टेशन और कैंट इलाके हैं. पहले इनमें से कई को पाकिस्तान समर्थित आतंकवादियों ने निशाना भी बनाया है.जम्मू कश्मीर में मंगलवार को सुरक्षा बल के जवानों ने नेशनल हाईवे पर हमले एक बड़ी आतंकी साजिश को नाकाम कर दिया. सोमवार शाम से देर रात तक चली मुठभेड़ में सुरक्षा बल ने लश्कर-ए-तैयबा के कमांडर अबरार को मार गिराया. मुठभेड़ में एक पाकिस्तानी आतंकी भी मारा गया. सुरक्षा बल के कई जवानों और नागरिकों की हत्या के मामले में अबरार वांटेड था. उसके साथ मारे गए पाकिस्तानी आतंकी की पहचान नहीं हो पाई है।.जम्मू-कश्मीर में आर्मी बेस पर ड्रोन हमले की साजिश का मसला संयुक्त राष्ट्र सभा में भी उठा है. भारत ने संयुक्त राष्ट्र महासभा में कहा कि सामरिक और वाणिज्यिक संपत्तियों के खिलाफ आतंकवादी गतिविधियों के लिए हथियारबंद ड्रोन के इस्तेमाल की संभावना पर वैश्विक समुदाय को गंभीरता से ध्यान देने की जरूरत है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here