योगी आदित्यनाथ ने मनाई फूलों की होली

0
791

रिपोर्टर मनोज कुमार

Dt 24।02।18

फरीदाबाद।

 

योगी जी बरसना पहुचे लढ मार होली खेलने।

 

 

मथुरा.     योगी आदित्यनाथ बरसाना पहुंचकर भी यहां की प्रसिद्ध लट्ठमार होली नहीं खेल पाए। इसके लिए ज्यादा भीड़ और प्रशासनिक व्यवस्था को जिम्मेदार बताया जा रहा है। सरकार का ये कार्यक्रम हुरियारों के झंडा पूजन तक सीमित रह गया। योगी शनिवार को बरसाना पहुंचे थे। उन्होंने एक गोबर गैस प्लांट का इनॉगरेशन किया और साधु-संतों से मुलाकात की।

 

 

 

 

भारतीय संगीत पर ब्रज का प्रभाव

 

– योगी ने बरसाना में कहा, “भगवान कृष्ण का जन्म और लीला ब्रज क्षेत्र में संपन्न हुई लेकिन गीता का अमर संदेश हरियाणा के कुरुक्षेत्र में ​दिया था। हरियाणा और यूपी का समन्वय हो और एक साथ विकास की प्रक्रिया बढ़ा सके इस दृष्टि से रंगोत्सव का कार्य​क्रम बहुत महत्वपूर्ण है।”

 

– “ब्रजक्षेत्र, भगवान श्रीकृष्ण की लीलाओं, गीतों, नृत्य व मुरली वीणा की भूमि है। भारतीय शास्त्रीय संगीत पर ब्रजक्षेत्र की संस्कृति का बहुत गहरा प्रभाव पड़ा है।”

– “मैं आप लोगों से वादा करता हूं कि विकास के लिए मैं कभी पैसे को आड़े नहीं आने दूंगा। भगवान कृष्ण का एक नाम है गोपाल और ब्रज क्षेत्र के महत्व को बरकरार रखना है तो गौसेवा करना जरूरी है।”

 

 

 

 

– मुख्यमंत्री बनने के बाद योगी पहली बार श्रीकृष्ण जन्मस्थान मंदिर पहुंचे थे। उन्होंने कहा कि बीते 11 महीनों में यूपी में किसी को न तो ईद और न ही क्रिसमस मनाने से रोका गया है। सभी लोग अपनी धार्मिक आस्था व्यक्त करने के लिए स्वतंत्र है। धार्मिक स्वतंत्रता का अधिकार भारत के अंदर हर एक को है। हमारी संस्कृति हमें गौरव की अनुभूति कराती है।

 

– उन्होंने कहा कि में पर्यटन को बढ़ावा देने के उद्देश्य से ऐसा कर रहा हूं। अयोध्या में दीपावली, मथुरा में होली तो काशी में देव दीपावली और चित्रकूट में राम मेला (उत्सव) मनाया जाएगा।

 

– प्रशासन के मुताबिक बरसाना में लट्ठमार होली के लिए फूलों से बने 6 हजार लीटर रंग का इस्तेमाल हुआ।

 

– चौधरी के मुताबिक, “इस मौके पर देश भर से 1 लाख से ज्यादा लोगों को बरसाना पहुंचे हैं। उन्होंने बताया कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए पहली बार ऐसा फैसला लिया गया है। पूरी कैबिनेट को होली में शामिल होने का न्योता भेजा गया है।”

 

 

 

पर्यटन के मकसद से बनाया गया प्लान

 

– बीजेपी प्रवक्ता राकेश त्रिपाठी ने बताया, ”ये रंगों और खुशियों का त्योहार है, इसे पर्यटन से जोड़ने के विशेष मकसद से सरकार ने इसकी प्लानिंग की है। ताकि हमारी संस्कृति और उत्सव को लोगों तक पहुंचाया जा सके।”

– कैबिनेट मंत्री श्रीकांत शर्मा ने कहा, ”हम होली के बहाने बृज को प्रमोट कर रहे हैं। बृज की होली पूरी दुनिया में मशहूर है। हम चाहते हैं यहां की सुगंध और गुलाल दुनियाभर में पहुंचे। यह वही कर सकता है जो अपनी संस्कृति का प्रचार-प्रसार करना चाहता हो। जिनका तन इस देश में रहता है और मन इटली में रहता है, वह कैसे अपनी संस्कृति का प्रचार-प्रसार कर पाएंगे।”

 

  1. – बता दें कि बरसाने में करीब 40 दिनों तक होली खेली जाती है। यहां की लठ्ठमार होली दुनियाभर में प्रसिद्ध है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here