छावनी में बनाया जायेगा देश का पहला इलेक्टिक व्हीकल हिलस्टेशन।

0
100

रिपोर्टर सुमित कंसल मसूरी

छावनी में बनाया जायेगा देश का पहला इलेक्टिक व्हीकल हिलस्टेशन।

मसूरी। छावनी क्षेत्र में लगातार जाम लगने से जो परेशानी आम जनता व वाहनों को हो रही है उसे छावनी परिषद ने गंभीरता से लिया है और इसके समाधान के लिए प्लान बनाया है। जिसके तहत लंढौर छावनी को देश का पहला इलेक्ट्रिक व्हीकल्स हिलस्टेशन बनाने के लिए कार्य किया जा रहा है साथ ही मल्टी लेवल पार्किंग भी बनायी जायेगी।
छावनी परिषद के सीईओ अभिषेक राठौर ने बताया कि लंढौर छावनी क्षेत्र पर्यटन के क्षेत्र में निरंतर आगे बढ रहा है तथा एक नया डेस्टिनेशन बन गया है। जिसके कारण बड़ी संख्या में पर्यटकों के आने से रोड पर जाम लगा रहता है। रोड संकरी होने के कारण इससे निजात पाने के लिए छावनी परिषद ने गंभीरता से मंथन किया है और इससे निजात दिलाने का प्लान तैयार किया है जिसके तहत छावनी परिषद लंढौर को देश का एकमात्र पहला इलेक्ट्रिक व्हीकल्स हिल स्टेशन बनाने का प्रयास किया जा रहा है जिसके तहत देश की कई इलेक्ट्रिक व्हीकल कंपनियांे को प्रजेंटेशन के लिए बुलाया गया है जिसमें दो कंपनियों ने अपना प्रजंटेशन दिया है। उसके टेंडर की प्रक्रिया भी शुरू की जा रही है। जो यहां आकर रोड व चढाई को देखकर उस हिसाब से व्हीकल तैयार करेंगे। शीघ्र ही इसका डेमो एक कंपनी द्वारा दिया जाने वाला है। उन्होंने बताया कि छावनी में एक मल्टीलेवल पार्किग के निर्माण की दिशा में भी प्रयास किया जा रहा है जिसके लिए कई स्थानों को चयनित किया गया है जिसके लिए पेयजल निर्माण निगम को इसकी डीपीआर बनाने को कहा गया है। उनकी पूरी टीम पहले निरीक्षण कर चुकी है और सौ वाहनों की पार्किग को फाइनल किया गया है। इसी कड़ी में उनकी एक टीम आज मसूरी आ रही है जिनके साथ उन्हें भी निरीक्षण करना है। हो सकता है कि बहुत शीघ्र यह प्रपोजल फाइनल कर इसके वित्तीय अनुदान के लिए भारत सरकार को भेजेंगे ताकि इसका कार्य शुरू किया जा सके। उन्होंने यह भी कहा कि छावनी परिषद क्षेत्र में कई कैफे उच्च स्तर के आ रहे हैं जिसमे छावनी परिषद ने अपनी संपत्ति को ऑक्सशन किया है जिसमें अच्छे नामी कैफे आ रहे है। लेकिन इसमें विशेष ध्यान इस पर दिया जायेगा कि यहां के पर्यावरण को देखते हुए उससे छेड़छाड न हो। तथा उसका बहुत अधिक व्यावसायी करण न करें उसके साथ ही उन्हें प्रापर्टी दी जा रही है। क्यों कि यह प्राकृतिक सौदर्य से भरपूर क्षेत्र है जिसमें अभी कोई छेडछाड नहीं की गई है। पर्यटक यहां आकर उसका आनंद ले पर्यटकों को सुविधा मिले। इस मौके पर छावनी की पूर्व सभासद पुष्पा पडियार, छावनी के कार्यालय अधीक्षक सिकंदर, जेई शशांक चौहान आदि मौजूद रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here