देहरादून,प्रदेश कांग्रेस के अनुसूचित विभाग के पूर्व संयोजक मोहन काला ने राज्य सरकार से गरीबो को उनके राज्यो में भेजने की मांग की

0
584

“पुलिस के द्वारा”हिंदी मैगजीन के संवादाता दीपक सैलवान।
देहरादून -रविवार आज जारी एक बयान में उतराखण्ड प्रदेश कांग्रेस अनुसूचित जाति विभाग के पूर्व संयोजक मोहन कुमार काला ने कहा कि प्रदेश में रहने वाले पूर्वांचल,बिहार यूपी सहित अन्य राज्यों व स्थानीय मज़दूरों में लॉक डाउन के चलते बहुत से मज़दूर जिसमें बड़ी संख्या में बिहार व उत्तरप्रदेश के लोग हैं।जहाँ सभी लोग बेरोज़गारी के चलते भुखमरी के कागार पर आ गये हैं।पूर्व में सामाजिक संस्थाओं द्वारा स्वयं व पुलिस के माध्यम से भोजन पहुँचाने का कार्य किया गया,परन्तु अब वह भी व्यवस्था लगभग ढीली पड़ गई है।निर्माण कार्य बन्द होने के कारण सभी मज़दूर घर पर बैठ गये हैं। उनके ऊपर रोजी-रोटी के संकट के साथ साथ मकान के किराये व अन्य ज़रूरतों के लिये पैसा नहीं है।जोकि बहुत चिंता का विषय है।सरकार इनको इनके प्रदेशों में भिजवाने का वादा करती आ रही है परन्तु सरकार की ओर से अभी तक कोई भी ठोस कदम नहीं उठाये गये,और ना ही पूर्ण रूप से निर्माण कार्यों को गति देने की अनुमति दी है,ना ही निर्माण सामग्री का आवागमन शुरू करवाया, जिसकी वजह से पीड़ित लोगों की हालत बद से बदतर होती जा रही है ।कांग्रेस नेता काला ने मुख्यमंत्री से आग्रह किया है,कि इनके हालात को देखते हुऐ उचित कदम उठाते हुऐ इनके रोज़गार के लिये निर्माण कार्यों को पूरी तरह से अनुमति दी जाये या फिर इनको सकुशल इनके प्रदेशों मे भेजा जाये आज उन्होंने ये भी कहा कि कामकाज ना होने के कारण कामगारों कि स्थिति दयनीय हो गयी है सरकार द्वारा कोई व्यवस्था ना होने के कारण अधिकांश मजदूर पैदल ही अपने प्रदेश जाने के लिए सडको पर आ रहे हैं,ओर हादसो के भी शिकार हो रहे हैं जो चिंता का विषय है,पर सरकार फिर भी गम्भीर नही दिख रही है जो चिंता का विषय है,वहीं काला ने सरकार से मांग करी की सरकार जल्द ही उचित कदम उठाकर प्रवासी मजदूरों को बस एवं ट्रैनो के माध्यम से उन्हे घर पहुंचाने का कार्य करे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here