प्राकृतिक रंगों ईश्वरीय उमंगों के संग धूलिवंदन का अभिनंदन।

0
55

रिपोर्टर सुमित कुमार कंसल

प्राकृतिक रंगों ईश्वरीय उमंगों के संग धूलिवंदन का अभिनंदन।

मसूरी। आर्यम इंटरनेशनल फ़ाउंडेशन के तत्त्वावधान में संचालित भगवान शंकर आश्रम में दो दिवसीय फाल्गुन पूर्णिमा महोत्सव सम्पन्न हो गया। प्राकृतिक रंगों और ईश्वरीय उमंगों के संग धूलिवंदन का अभिनंदन किया गया। होली पर आयोजित समारोह में देश विदेश के लगभग 200 श्रद्धालुओं ने भाग लिया।
ट्रस्ट के संस्थापक अध्यक्ष और आश्रम प्रमुख प्रोफ़ेसर पुष्पेंद्र कुमार आर्यम जी महाराज के सानिध्य और आशीर्वाद से समस्त कार्यक्रम हर्षोल्लास के सम्पन्न हुए। पूर्व की भांति इस वर्ष भी होली के लिए किसी भी कृत्रिम रंग का प्रयोग नहीं किया गया। टेसू के पुष्पों से रंग घोला गया। सूखे रंगों के लिए चंदन पाउडर, हल्दी, आटे और बेसन का प्रयोग किया गया।

वैदिक प्रार्थनाओं और भक्ति संगीत के मध्य फूलों से होली खेलकर सभी के मध्य प्रेम और शांति की कामना की गई। समारोह के आयोजन में श्री एथनिक इंडिया सचिव माँ यामिनी श्री और ज्ञानोदय वाटिका प्रमुख अविनाश सिंह अलग का विशेष सहयोग रहा। वैदिक नाद संस्कृत बैंड के अध्यक्ष कमल शर्मा के नेतृत्व में उनके समूह द्वारा भक्ति संगीत का आयोजन किया गया। भक्तिमार्ग के प्रमुख संत चौतन्य महाप्रभु की जयंती के अवसर पर आश्रम स्थित ब्रह्मकुण्ड में मंत्रोच्चार के मध्य दीपदान किया गया। आयोजन में हरमीत सिंह कोहली, कल्याणी श्री, शिवम्, अश्विनी, राहुल गुप्ता, रवि, सुनील आर्य, प्रीतेश, प्रमेन्द्र, देवेंद्र, मोहित, रूबी, दीपा, संजय महाजन आदि का सहयोग रहा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here